Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > प्रकृति का सम्मान करके हो सकती है परिवार की रक्षा

प्रकृति का सम्मान करके हो सकती है परिवार की रक्षा

प्रकृति का सम्मान करके हो सकती है परिवार की रक्षा
X

लखनऊ/स्वदेश वेब डेस्क। केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि हमारे पूर्वजों ने हमें साफ़ सुथरी नदियां, साफ़ वायु उपजाऊ जमीन घने जंगल दिए, लेकिन हमारे देश के लोगों ने बांकी दुनिया के लोगों की तरह हमारे पूर्वजों की सिखाई बातें भूल गये जिसका खमियाजा हमें अभी हाल में भुगतना पड़ा। केरल के अंदर हमारे 400 से ज्यादा भाई बहन मृत्यु का शिकार हो गए। इसलिए इसे अभियान के रूप में लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रकृति का सम्मान करके ही हम अपने परिवार की रक्षा कर सकते हैं।

डा. हर्षवर्धन रविवार को इन्दिरागांधी प्रतिष्ठान में में आयोजित भारतीय अन्तरराष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव में आयोजित गिनीज आफ बुक समाराहे में बच्चों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल में यूपी की राजधानी लखनऊ में लगातार 2 वर्ल्ड रिकॉर्ड बने हैं इसके लिए आप सभी को धन्यवाद देता हूँ। आपने भारत के लिए जो उपलब्धि हासिल करके दी है इसके लिए आप सभी पर भारत को बहुत गर्व है। भारत सरकार की ओर से आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद। अभी 4 साइंस फेस्टिवल में 4 बार गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में हमने नाम दर्ज करा लिया है। 3,540 बच्चों ने इसे किया कल डीएनए आइसोलेशन और आज फर्स्ट ंएड की ट्रेनिंग लेकर आप लोगों ने नाम दर्ज कराया है। यह गौरव की बात है।

डा. हर्षवर्धन ने कहा कि मैं देश का पर्यावरण मंत्री भी हूं। 700 अच्छे कामो को हमने ग्रीन गुड डीड्स का नाम दिया है जो मेरे एप्पस में उपलब्ध है। इसे डाउनलोड करके अगर छोटी चीजों को अमल कर लिया जाए तो पर्यावरण को बचाया जा सकता है।

Updated : 2018-10-08T01:23:23+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top