Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > योगी सरकार 600 युवाओं को 15 दिन में देगी इंजीनियर की नौकरी, पहली बार कम्प्यूटराइज्ड चयन प्रक्रिया

योगी सरकार 600 युवाओं को 15 दिन में देगी इंजीनियर की नौकरी, पहली बार कम्प्यूटराइज्ड चयन प्रक्रिया

नमामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग में संविदा पर जूनियर इंजीनियरों की भर्ती प्रक्रिया तेज

योगी सरकार 600 युवाओं को 15 दिन में देगी इंजीनियर की नौकरी, पहली बार कम्प्यूटराइज्ड चयन प्रक्रिया
X

लखनऊ। सरकारी महकमे में रोज़गार की आस लगाए बैठे युवाओं को उत्तर प्रदेश सरकार का नमामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग नौकरियों का तोहफ़ा देने जा रहा है। विभाग इसी माह संविदा के आधार पर 600 इंजीनियरों की भर्ती प्रक्रिया पूरी कर सकता है। चयनित अभ्यार्थियों को 15 दिन में नियुक्ति देने की तैयारी है।

भर्ती प्रक्रिया को सुरक्षित और पारदर्शी बनाने के लिए पहली बार इसे पूरी तरह कम्प्यूटराइज्ड रखा गया है। प्रमुख सचिव नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति अनुराग श्रीवास्तव ने भर्ती प्रक्रिया को सौ फ़ीसदी कम्प्यूटर आधारित रखने के साथ ही अगले 15 दिन में चयनित अभ्यार्थियों को नियुक्ति पत्र देने के निर्देश जारी किए हैं। नमामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग में 525 सिविल और 75 इलेक्ट्रिकल मैकेनिकल के पदों पर जूनियर इंजीनियरों की भर्ती शुरू की गई है। सेवायोजन पोर्टल में पंजीकृत जूनियर इंजीनियर (सिविल) पद के लिए 7930 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। इलेक्ट्रिकल मैकेनिकल पद के लिए 2570 अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं।

इसी माह नियुक्ति पत्र -

चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति के लिए लंबे समय तक इंतजार नहीं करना होगा। साक्षात्कार के 15 दिन के भीतर चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र बांटा जाएगा। विभाग के अधिशासी निदेशक प्रिय रंजन कुमार ने बताया कि भर्ती प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी है। पूरी प्रक्रिया की उच्च स्तर पर निगरानी की जा रही है। उन्होंने अभ्यर्थियों से भी अपील की है कि किसी प्रलोभन में न आएं। कोई लालच दे रहा है तो शिकायत करें। अभ्यार्थियों से ठगी करने का प्रयास करने वालों पर तत्काल करवाई की जाएगी।

30 हजार वेतन पर पहली तैनाती -

संविदा के आधार पर भर्ती होने वाले इंजीनियर को हर महीने 30,000 तनख्वाह मिलेगी। प्रदेश के विभिन्न जिलों में जरूरत के हिसाब से इंजीनियरों की तैनाती की जाएगी। कोशिश होगी चयनित अभ्यर्थियों को मनपसंद जिले में तैनात किया जाए। इससे इंजीनियर पूरी मेहनत और लगन से काम करेंगे।

पूरी तरह पारदर्शी है भर्ती प्रक्रिया -

विभाग की तरफ से सबसे पहले जूनियर इंजीनियरों के रिक्त पदों पर विज्ञापन निकाला गया। फिर आवेदनों को कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर ने मानकों के आधार पर शार्ट लिस्ट किया। इसके बाद कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर द्वारा अभ्यथियों की मेरिट तैयार की जा रही है। कम्प्यूटर द्वारा अभ्यर्थियों की इंटरव्यू प्रक्रिया के लिए 10 अंक निर्धारित किये गये। जिस आधार पर तकनीक के इस्तेमाल से पारदर्शी तरीके संविदा पर जूनियर इंजीनियरों की भर्ती की जाएगी।

जलशक्ति मंत्री बोले -

प्रदेश के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह का कहना है,'हम हर हाथ को रोज़गार देने के संकल्प पर आगे बढ़ रहे हैं। जल शक्ति विभाग की हर इकाई इसके लिए प्रयासरत है। नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग लगातार युवाओं को अपने साथ जोड़ रहा है। तकनीक के इस्तेमाल से भर्तियों और तबादले की प्रक्रिया को बेदाग़ और पारदर्शी बना रहे हैं।'

Updated : 11 July 2022 2:01 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top