Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > रमादेवी से तो माफी मांग कर बच गए आजम खान, हाईकोर्ट से कैसे बचेंगे ?

रमादेवी से तो माफी मांग कर बच गए आजम खान, हाईकोर्ट से कैसे बचेंगे ?

रमादेवी से तो माफी मांग कर बच गए आजम खान, हाईकोर्ट से कैसे बचेंगे ?
X

लखनऊ। तीन तलाक के बिल को लेकर बीते गुरुवार को संसद में हुई चर्चा के दौरान स्पीकर की भूमिका निभा रही भाजपा सांसद रमा देवी पर की गई टिप्पणी पर सपा सांसद आजम खान ने भले ही माफी मांग ली हो, लेकिन उनकी मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। उनके ड्रीम प्रोजेक्ट मुहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय जिला प्रशासन का डंडा चलना शुरु हो गया है। इसी कड़ी में मंगलवार को जिला प्रशासन व पुलिस ने विश्वविद्यालय में छापेमारी कर चार लोगों को हिरासत में ले लिया। आजम ने इस विश्वविद्यालय के गेट ध्वस्तीकरण व जुर्माना लगाने के आदेश की वैधता को इलाहाबाद हाईकोर्ट में मंगलवार को चुनौती दी है। पिता आजम के ही नक्शे कदम पर चल रहे बेटे अब्दुल्ला के खिलाफ फर्जी पासपोर्ट को लेकर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

रामपुर के जिलाधिकारी सदर रामपुर प्रेम प्रकाश तिवारी ने 25 जुलाई को मुहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के अंदर से गुजर रहे सार्वजनिक मार्ग से अनधिकृत कब्जा हटाने के आदेश दिये थे। इसके अलावा प्रशासन ने आजम खान को क्षतिपूर्ति के रूप में 3 करोड़ 27 लाख 60 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। उप जिलाधिकारी सदर ने यह भी आदेश दिया है कि कब्जा मुक्त होने तक 9 लाख 10 हजार रुपये प्रतिमाह की दर से 15 दिन के अंदर वादी लोक निर्माण विभाग में जमा कराया जाये। यह भी कहा गया था कि यदि पंद्रह दिन में गेट नहीं हटाया गया तो उसे तोड़ दिया जायेगा। आजम खान आज़म खान पर किसानों और सरकारी जमीन के अवैध कब्जे का आरोप लगा है। आजम खान के खिलाफ भूमाफिया घोषित किये जाने के बाद रामपुर के किसानों ने आजम पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया है। उनके खिलाफ रामपुर थाना में किसानों ने 27 मुकदमे दर्ज कराये हैं। इस यूनिवर्सिटी में शत्रु संपत्ति के मामले की जांच भी एसआईटी कर रही है।

रामपुर जिला प्रशासन के अधिकारी व पुलिस अधीक्षक अजय पाल शर्मा ने पुलिस फोर्स के साथ मंगलवार को जौहर यूनिवर्सिटी में छापेमारी की है। यूनिवर्सिटी की मुमताज़ सेंट्रल लाइब्रेरी से पुलिस ने बड़ी संख्या में चोरी हुई पुरानी और महंगी किताबें बरामद की है। एसपी के मुताबिक, 16 जून को एफआईआर मदरसा आलिया के प्रिंसिपल जुबेद खां ने थाना गंज में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। इसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि उनके मदरसे से चोरी की गई किताबें जौहर यूनिवर्सिटी की सेंट्रल लाइब्रेरी में मौजूद हैं। पुलिस ने इसी आधार पर कार्रवाई की है और यहां से पांच लोगों को हिरासत में भी लिया है। चोरी गई किताबों की पहचान करायी जा रही है।

मुहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के गेट ध्वस्तीकरण व जुर्माना लगाने के आदेश की वैधता को लेकर मंगलवार को आजम खान इलाहाबाद हाईकोर्ट में चुनौती दी है। इस याचिका में एसडीएम के आदेश को रद्द किये जाने की मांग की गयी है। इस याचिका की 31 जुलाई को सुनवाई की संभावना है।

मुहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय को लेकर जहां आजम खान बुरी तरह से फंसे हुये है। वहीं, अब उनके बेटे अब्दुल्ला आजम खान के खिलाफ भी धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज हुआ है। यह मुकदमा फर्जी पासपोर्ट को लेकर भाजपा के नेता आकाश की तहरीर पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने दर्ज किया है। पूर्व मंत्री आजम खान के बेटे और सपा विधायक अब्दुल्ला आजम ने असत्य और कूटरचित दस्तावेज के आधार पर पासपोर्ट बनवाया है। आरोप है कि विधायक के शैक्षिक प्रमाणपत्रों हाई स्कूल, बीटेक और एमटेक में जन्मतिथि 1 जनवरी, 1993 अंकित है, जबकि पासपोर्ट में 30 सितम्बर, 1990 दर्ज है।

Updated : 2019-07-31T14:03:02+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top