Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > राज्यसभा में सपा को लगा चौथा झटका

राज्यसभा में सपा को लगा चौथा झटका

राज्यसभा के लिए होने वाले उपचुनाव में भाजपा महासचिव अरूण सिंह की जीत महज औपचारिकता

राज्यसभा में सपा को लगा चौथा झटका

दो दिसंबर को नामांकन भरेंगे भाजपा महासचिव, चार को स्कूटनी

नई दिल्ली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में राज्यसभा के लिए होने वाले उपचुनाव के लिए भाजपा ने बुधवार को महासचिव अरूण सिंह को उम्मीदवार बनाकर समाजवादी पार्टी को चैथा झटका दे दिया है। इससे पहले सपा के तीन राज्यसभा सांसद नीरज शेखर, नागर आदि नेता भाजपा में शामिल हो चुके हैं। उच्च सदन में समाजवादी पार्टी की तंजीन फातिमा के इस्तीफे से खाली हुई इस सीट पर सिंह की उम्मीदवारी जीत की महज औपचारिकता मात्र है। इसके इतर सुदूरवर्ती दक्षिण के राज्य कर्नाटक से पार्टी ने केसी राममूर्ति को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया है। राममूर्ति हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं। दोनों ही राज्यों में भाजपा की सरकारें होने के चलते उम्मीदवारों की जीत के साथ ही भाजपा का राज्यसभा में आंकड़ा बहुमत के करीब पहुंच गया है।

उत्तर प्रदेश में राज्यसभा का चुनाव काफी उतार-चढ़ाव वाला होता रहा है लेकिन, 2017 में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद पर्याप्त संख्या बल के चलते अरूण सिंह की जीत को आसान बना दिया है। इस सीट के लिए कई दावेदारों ने इच्छा जताई थी। लोकसभा चुनाव हारे मनोज सिन्हा से लेकर लक्ष्मीकांत वाजपेयी जैसे नेता इस सीट के प्रबल उम्मीदवार थे लेकिन अंत में अरूण सिंह पर पार्टी का निर्णय सब पर भारी पड़ गया। अरूण सिंह दो दिसंबर को अपना नामांकन भरेंगे और चार दिसंबर को लगे हाथ स्कूटनी होनी है। विपक्ष के पास संख्या बल नहीं होने के कारण अरूण ंिसंह का निर्विरोध चुना जाना लगभग तय है। अरूण सिंह की उम्मीदवारी को लेकर पार्टी मुख्यालय में प्रसन्नता का माहौल है। सिंह लंबे समय से पार्टी को अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं इस लिहाज से उनकी उम्मीदवारी उपयुक्त बनती है। आगे राज्यसभा में भी पार्टी की ओर से वे जोरदार तरीके से पक्ष रखेंगे।

Updated : 29 Nov 2019 3:20 PM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top