Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > लगातार कठिन परिश्रम से छात्रों की सफ लता सुनिश्चित: रवीन्द्र कुमार

लगातार कठिन परिश्रम से छात्रों की सफ लता सुनिश्चित: रवीन्द्र कुमार

लगातार कठिन परिश्रम से छात्रों की सफ लता सुनिश्चित: रवीन्द्र कुमार
X

मथुरा। रूचि, योग्यता, प्रवीणता, परिश्रम...ये कुछ ऐसे शब्द हैं, जो किसी सफलता की राह निर्धारित करते हैं। जबकि इन शब्दों का अपने आप में अलग-अलग भी काफी महत्व है। जब यही शब्द एक साथ मिल जाते हैं, तो व्यक्ति की सफलता सुनिश्चित होती है।

यह बातें जीएलए विश्वविद्यालय में अतिथि व्याख्यान के दौरान भारत सरकार के पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय के सेक्रेटरी आईएएस रविन्द्र कुमार ने व्यक्ति की सफलता के बारे में बताते हुए कहे। उन्होंने भगवान बुद्धा पर अपने विचार व्यक्त किए और मुकेश अंबानी की बड़ी सफलता के बारे में एमबीए के छात्रों को बताया। उन्होंने कहा कि छात्र अच्छे से अपने ड्रीम पर फोकस करते हैं तो उसे प्राप्त भी कर सकते हैं। इसके लिए ड्रीम को महसूस करना अतिआवश्यक है।

आईएएस रवीन्द्र कुमार ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति में कुछ न कुछ ऐसे गुण जरूर होते हैं जो उसे खास और दूसरों से अलग बनाते हैं। इसलिए अपनी रूचि को पहचानें और अपनी योग्यता को विकसित करें। फिर दुनिया कोई भी ताकत आपको सफल होने से नहीं रोक सकती।

अतिथि व्याख्यान से पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. विकास त्रिपाठी ने छात्रों को आईएएस के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि आईएएस रवीन्द्र कुमार देश के पहले आईएसएस हैं जिन्होंने वर्ष 2013 में माउंट एवरेस्ट फतह किया। उन्होंने एवरेस्ट यात्रा की रोमांच को पुस्तक का रूप प्रदान किया। रवीन्द्र की मेनी एवरेस्ट्स के नाम लिखी पुस्तक के चलचित्रों को जीएलए के छात्रों ने भी देखा। यही नहीं आईएसएस ने छात्रों को एवरेस्ट फतह की वीडियो भी दिखाई।

व्याख्यान के अंत में जीएलए विश्वविद्यालय के सेक्रेटरी सोसायटी एवं कोषाध्यक्ष नीरज अग्रवाल ने आईएएस रवीन्द्र कुमार को स्मृति चिन्ह् भेंटकर सम्मानित किया और कहा कि पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय के सेक्रेटरी ने जो कीमती समय छात्रों के बीच बिताकर सफलता के मंत्र दिए हैं। वाकई में उन मूलमंत्रों से छात्रों को बहुत कुछ सीखने को मिलेगा और छात्र कामयाबी के शिखर तक पहुंचेंगे।

इस मौके पर प्रतिकुलपति प्रो. आनंद मोहन अग्रवाल, डीन एकेडमिक प्रो. अनूप कुमार गुप्ता, कुलसचिव अशोक कुमार सिंह आदि उपस्थित रहे।

Updated : 2019-02-20T21:57:45+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top