Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > अब शिवपाल का सियासी ठिकाना बनेगा मायावती का पूर्व बंगला

अब शिवपाल का सियासी ठिकाना बनेगा मायावती का पूर्व बंगला

अब शिवपाल का सियासी ठिकाना बनेगा मायावती का पूर्व बंगला
X

लखनऊ/नई दिल्ली/स्वदेश वेब डेस्क। उत्तर प्रदेश के राज सम्पत्ति विभाग ने लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को आवंटित बंगला अब शिवपाल यादव को दे दिया है। इस तरह अब शिवपाल यहां से अपनी सियासी रणनीति को समर्थकों के साथ धार देने का काम करेंगे।

राज सम्पत्ति विभाग के अनुभाग अधिकारी महेन्द्र वर्मा ने बताया कि लाल बहादुर शास्त्री मांग पर स्थित बंगला नम्बर छह समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधायक शिवपाल यादव को आवंटित कर दिया गया है। यह बंगला पहले पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को आवंटित था। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी बंगला खाली करने के आदेश के बाद मायावती को इसे छोड़ना पड़ा था। उन्‍होंने बंगले की चाबी स्पीड पोस्ट के जरिए राज्य सम्पत्ति विभाग को भेजी थी और बकाया बिजली का बिल भी जमा कराया था। अब यह बंगला एक बार फिर शिवपाल यादव का नया सियासी ठिकाना बनने के बाद सुर्खियों में आ गया है। इस सम्बन्ध में बसपा की प्रतिक्रिया सामने नहीं आयी है, लेकिन शिवपाल यादव की ओर से कहा जा रहा है कि उनकी वरिष्ठता को देखते हुये विभाग ने उन्हें यह बंगला आवंटित किया है।

गौरतलब है कि शिवपाल वर्तमान में सपा विधायक हैं, लेकिन समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन के साथ ही उन्होंने अपनी नई सियासी पारी की घोषणा कर दी है। वह प्रदेश के ​सभी जिलों में इसका तेजी से विस्तार करने में लगे हुए हैं। इसके लिए विभिन्न नेताओं को जिम्मेदारी भी सौंपी गई है।

राज्य सम्पत्ति विभाग की ओर से शिवपाल को आवंटित बंगले में जरूरी कार्यों को कराया जा रहा है। माना जा रहा है कि शिवपाल नवरात्रि के शुभ दिन होने के कारण जल्द ही इसमें प्रवेश करेंगे। इसे वह सेक्युलर मोर्चा से सम्बन्धित कार्यों का ठिकाना बनायेंगे और पदाधिकारी, समर्थक सुविधाजनक तरीके से उनसे मुलाकात कर सकेंगे।

शिवपाल को नया बंगला आंवटित होने को सियासी गलियारों में भाजपा से नजदीकी से भी जोड़कर देखा जा रहा है। उधर बंगला मिलने की ये खबर ऐसे मौके पर सामने आयी है, जब शुक्रवार को ही राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव लोहिया ट्रस्ट में उनके साथ नजर आए। इस दौरान मुलायम ने किसी का नाम लिए बगैर युवाओं को परिवार, गांव, शहर या कहीं भी अन्याय का विरोध करने की नसीहत दी। मुलायम के इस बयान को शिवपाल और उनके सम​र्थक नेताजी का आशीर्वाद बता रहे हैं। शिवपाल ने कहा है कि भरोसा है कि नेता जी उनको आशीर्वाद देते रहेंगे।

Updated : 2018-10-13T01:07:04+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top