Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > सीएम योगी की पहल का दिखने लगा असर, पूरा यूपी खाएगा पराग आइसक्रीम

सीएम योगी की पहल का दिखने लगा असर, पूरा यूपी खाएगा पराग आइसक्रीम

बरेली में बनने लगी पराग की आइसक्रीम पूरे प्रदेश में होगा वितरण

सीएम योगी की पहल का दिखने लगा असर, पूरा यूपी खाएगा पराग आइसक्रीम
X

बरेली। उद्योगों और रोजगार को बढ़ावा देने की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल का असर दिखने लगा है। इसका असर है कि जिले में पराग का पहला आइसक्रीम प्लांट लगाया गया है। 108 करोड़ की लागत से करगैना बदायूं रोड पर बने ग्रीन फील्ड प्लांट शुरू हो गया है, जहां रोजाना 10 हजार लीटर आइसक्रीम बनाई जा रही है। जिसकी सप्लाई पूरे प्रदेश में होगी। अब पूरा उत्तर प्रदेश पराग की आइसक्रीम खाएगा।

योगी सरकार के पशुधन विकास मंत्री धर्मपाल सिंह ने शुक्रवार को आइसक्रीम प्लांट का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि 'पराग आइसक्रीम बनने से एक ओर किसानों की आमदनी दोगुनी होगी। वहीं दूसरी तरफ लोगों को रोजगार मिलेगा।' आज प्रदेश में पराग आइसक्रीम ठेली से लेकर पराग की सभी डेयरियों और पराग पार्लर पर आइसक्रीम एवं अन्य उत्पाद बिक्री की व्यवस्था की जा रही है।

अब प्रदेश की गाएं बछिया ही पैदा करेंगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर पहली बार नोएडा में डेयरी विश्व शिखर सम्मेलन का आयोजन किया गया। योगी सरकार के मंत्री धर्मपाल सिंह ने बताया कि गाय और भैस के दुग्धि उत्पा दन को बढ़ाने की दिशा में एक क्रांतिकारी कदम उठाया गया है। इसके लिए सेक्सा सोर्टेड सीमन योजना लागू की गयी है। जिसमें गाय, भैस में कृत्रिम गर्भाधान के द्वारा इस प्रकार का बीज रखा जाता है जिससे केवल मादा बच्चाह ही पैदा होता है। यानि गाय के बछिया और भैंस के पडि़या होने की गारंटी रहती है। इससे पशुपालकों की आमदनी बढ़ेगी।

100 दिनों में 75 लाख पशुओं का कराया जाएगा कृत्रिम गर्भाधान

दूध में वृद्धि के लिए गाय और भैंसों में कृत्रिम गर्भाधान की व्यवस्था की गई है। 100 दिनों में 75 लाख गाय-भैंसों का गर्भाधान कराया जाएगा। इसमें गायों को सीमेन वैक्सीन लगाई जाएगी इससे बछिया पैदा होगी। भैंसों में मुर्रा भैंस का सीमेन दिया जाएगा। मुर्रा भैंस एक दिन में 20 लीटर तक दूध देती है। इससे दूध में वृद्धि होगी। इसका सीधा असर किसानों की आमदनी पर पड़ेगा।

डेयरी के लिए सरकार प्रोजेक्ट अनुदान और ब्याज में छूट

योगी सरकार डेयरी प्रोजेक्ट को लेकर काफी छूट दे रही है। पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए डेयरी खोलने वालों को 10 फीसदी अनुदान दिया जा रहा है। इसके अलावा बैंकिंग फाइनेंस पर 5 फ़ीसदी ब्याज पर ऋण मुहैया कराया जा रहा है। गाय भैंसों के अलावा बकरी और मुर्गी पालन पर भी सब्सिडी की व्यवस्था की गई है। इससे किसान पशुपालन कर अपनी आमदनी को बढ़ा सकते हैं।

Updated : 19 Nov 2022 2:31 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top