Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > उप्र में कांग्रेस उम्मीदवारों के चयन को लेकर सरगर्मियां हुईं तेज

उप्र में कांग्रेस उम्मीदवारों के चयन को लेकर सरगर्मियां हुईं तेज

उप्र में कांग्रेस उम्मीदवारों के चयन को लेकर सरगर्मियां हुईं तेज
X

नई दिल्ली/लखनऊ। गुजरात में अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यसमिति की 27 फरवरी को होने वाली बैठक से पूर्व उत्तर प्रदेश का फीडबैक देने के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राजबब्बर आज दिल्ली पहुंच रहे हैं। वे यहां कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ हो रही बैठक में हिस्सा लेंगे। यहां बैठक में हिस्सा लेने के बाद बब्बर सीधे गुजरात के लिए रवाना होंगे। सर्वाधिक 80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश की अहमियत को समझते हुए माना जा रहा है कि बैठक में उत्तर प्रदेश पर कोई रणनीति बने। सोमवार को लखनउ के मालएवेन्यू स्थित नेहरू भवन में चली मैराथन बैठक में खुद राजबब्बर के अलावा सांसद प्रमोद तिवारी, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री, संजय सिंह, प्रदीप जैन, अजय कुमार, लल्लू प्रदीप माथुर, बीपी सिंह, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, केशवचंद्र यादव, राजाराम पाल, रामलाल राही, ललितेश त्रिपाठी, भगवती प्रसाद चौधरी, गयादीन अनुरागी सहीत कई वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में उम्मीदवारों के चयन को लेकर विमर्श चला।

उप्र में अपनी दम पर 28 सीटों पर लड़ाई लड़ना चाहती है कांग्रेस

कांग्रेस प्रदेश में कम से कम 2009 का इतिहास दोहराना चाहती है। उसके जेहन में 28 ऐसी सीटें हैं जहां 2009 में कांग्रेस या तो जीती या 2014 में मोदी की तथाकथित लहर के बावजूद उसने दस प्रतिशत वोट पाए। अमेठी और रायबरेली को छोड़ दें तो कांग्रेस के पास कई सीटों पर अच्छे उम्मीदवार हैं। सूत्रों के अनुसार कुशीनगर से पार्टी प्रवक्ता आरपीएन सिंह, बाराबंकी से पीएल पुनिया, कानुपर से श्रीप्रकाश जायसवाल, उन्नाव से अनु टंडन, धौरहरा से जितिन प्रसाद, झांसी से प्रदीप जैन आदित्य, प्रतापगढ़ से रत्ना सिंह या प्रमोद तिवारी कोई एक, फैजाबाद से निर्मल खत्री, लखीमपुर खीरी से जफर नकवी, सुल्तानपुर से संजय सिंह, बहराइच से कमल किशोर कमांडो, रामपुर से बेगम नूर, और सहारनपुर से इमरान मसूद प्रमुख नामों में शामिल हैं। कांग्रेस अपने प्रतिद्वंदियों को शिकस्त देने केे लिए राज्य के कुछ छोटे दलों के साथ गठबंधन भी कर सकती है। जिनमें सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष प्रकाश राजभर, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव, निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद, पीस पार्टी के मोहम्मद अयूब, अपना दल की कृष्णा पटेल, आदि एक बड़ी छतरी के नीचे आने को इच्छुक हैं।

Updated : 2019-03-03T19:04:31+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top