Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > मुख्यमंत्री योगी ने बताई उपलब्धियां, कहा- ऑस्ट्रेलिया की आबादी से अधिक लोगों को आवास दे चुकी सरकार

मुख्यमंत्री योगी ने बताई उपलब्धियां, कहा- ऑस्ट्रेलिया की आबादी से अधिक लोगों को आवास दे चुकी सरकार

महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह समारोह के समापन में शामिल हुए मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री योगी ने बताई उपलब्धियां, कहा- ऑस्ट्रेलिया की आबादी से अधिक लोगों को आवास दे चुकी सरकार
X

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि तेजी से बदलता और विकास के हर क्षेत्र में आगे बढ़ता भारत पूरी दुनिया के लिए कौतुहल और आश्चर्य का विषय है। इस नये भारत में ऑस्ट्रेलिया की आबादी से अधिक आवास अबंटित हो चुके हैं। भारत में कुछ ही वर्षों में तीन करोड़ गरीबों का आवास बन चुका है। अमेरिका और यूनियन देशों की आबादी से अधिक 80 करोड़ लोगों को कोरोना काल से मुफ्त राशन दे रहा है।

योगी आदित्यनाथ शनिवार को महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के 90वें संस्थापक सप्ताह समारोह के समापन पर आयोजित पारितोषिक वितरण कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे थे। समापन समारोह के मुख्य अतिथि ओम बिरला का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया कोरोना से पस्त थी, तब भारत ने कोरोना के शानदार व सर्वश्रेष्ठ प्रबंधन से कार्य किया। योगी ने कहा कि आज भारत दुनिया में सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था है। 200 वर्षों तक शासन करने वाले ब्रिटेन को पीछे छोड़कर यह विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जी-20 का नेतृत्व मिलना भारत के लिए अभूतपूर्व उपलब्धि है। जी-20 में वे देश शामिल हैं जो दुनिया की 60 प्रतिशत आबादी, 75 प्रतिशत ट्रेड, 85 प्रतिशत जीडीपी और 95 प्रतिशत पेटेंट का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने जी-20 के थीम वसुधैव कुटुम्बकम की भी चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि जी-20 के 11 से अधिक कार्यक्रम उत्तर प्रदेश के चार शहरों में होने हैं। प्रयास और अभ्यास को अभी से आगे बढ़ाना होगा।

नौ माह में तैयार हुईं कोविड की दो स्वदेशी वैक्सीन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रति वर्ष हजारों बच्चों की जान जिस इंसेफेलाइटिस से चली जाती थी, उसका टीका भारत आने में सौ साल लग गए थे जबकि कोरोना संकट में देश ने मात्र नौ माह में दो स्वदेशी वैक्सीन तैयार कर दिए। इंसेफेलाइटिस का टीका जापान में 1905 में ही बन गया था लेकिन पूर्वी उत्तर प्रदेश में टीके 2006 में लगने शुरू हुए।

जरूरत के मुताबिक इंडस्ट्री से जुड़ें शिक्षण संस्थायें

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज की आवश्यकताओं के अनुसार शिक्षण संस्थाओं को इंडस्ट्री के साथ जुड़ना होगा। क्लास रूम तक सीमित रहने की बजाय व्यावहारिक जानकारी की ओर अग्रसर होना होगा।

राजधानी गांव पर शोध करें

भारत को लोकतंत्र की जननी बताते हुए सीएम योगी ने कहा कि गोरखपुर के चौरीचौरा के पास एक गांव का नाम ही राजधानी है। इसका इतिहास करीब 2500 वर्ष पुराना बताया जाता है। गोरखपुर विश्वविद्यालय व अन्य उच्च शिक्षण संस्थाओं को इस पर शोध करना चाहिए।

Updated : 10 Dec 2022 12:37 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top