Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > अयोध्या: राम मंदिर निर्माण को हुंकार भरेंगे दो लाख रामभक्त

अयोध्या: राम मंदिर निर्माण को हुंकार भरेंगे दो लाख रामभक्त

अयोध्या: राम मंदिर निर्माण को हुंकार भरेंगे दो लाख रामभक्त
X
Image Credit : indiarailinfo.com

लखनऊ। सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनवाई टलने के बाद संत समाज और हिन्दू परिषद (विहिप) ने मंदिर निर्माण के लिए रामभक्तों की बीच जाने का फैसला लिया है। मंदिर निर्माण के लिए एक बार फिर संत व विहिप से जुड़े लोग 25 नवम्बर को सरयू के किनारे रामभक्त महासम्मेलन में हुंकार भरेंगे। इस दिन नागपुर व बैंगलोर में भी रामभक्त दहाड़ लगायेंगे, जबकि 09 दिसम्बर को दिल्ली में रामभक्त दहाड़ेंगे।

इस रैली को सफल बनाने के लिए संत समाज तैयारी में जुटा हुआ है। इस रामभक्त महासम्मेलन में दो लाख रामभक्त अयोध्या पहुँचकर राम मंदिर निर्माण का संकल्प लेंगे। विहिप के केन्द्रीय मंत्री अशोक तिवारी ने बताया कि इस महासम्मेलन के अलावा देशभर के सभी प्रान्तों में तीन से चार बड़ी जनसभाएं होंगी। विहिप व संन्तों की योजना है कि शीतकालीन सत्र शुरु होने के पूर्व ही सभी जनसभाएं सम्पन्न हो जायें। बताया कि देशभर में कन्याकुमारी से जम्मू-कश्मीर तक 10 दिसम्बर तक जनसभाएं सम्पन्न करने की योजना है।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनवाई टलने के बाद संत व विहिप ने सरकार पर दबाब बनाने के लिए पूरी रणनीति तैयार की है। संतों ने कहा है कि 'कानून बनाओ या अध्यादेश लाओ! श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ने के मूड में है। 25 नवम्बर को अयोध्या में होने वाले रामभक्त महासम्मेलन की काशी, गोरक्षा, अवध तथा कानपुर प्रान्त में संतों तथा संघ की समवैचारिक संगठनों की तैयारी बैठकें शुरु हो गयी हैं। जिसमें दो लाख से अधिक रामभक्तों की जुटान की तैयारी चल रही है। सूत्र ने बताया कि आरएसएस से जुड़े संगठनों की एक अहम बैठक 10 नवम्बर को राजधानी लखनऊ में निराला नगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में होगी। यह अवध प्रान्त की बैठक होगी। जिसमें समवैचारिक संगठनों के प्रान्तीय समेत ऊपर के पदाधिकारियों को उपस्थित रहने को कहा गया है।

विहिप का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने जानबुझकर मंदिर मामले की सुनवाई को टाला है। इस मसले पर सरकार कानून बनाये या अध्यादेश लाकर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करे। विहिप के केन्द्रीय मंत्री और राष्ट्रीय प्रवक्ता अशोक तिवारी ने कहा कि 'देश का संत समाज और रामभक्तों ने तय कर लिया है कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण अब होकर रहेगा। संतों की दिल्ली में हुई बैठक में अयोध्या, नागपुर, बैंगलोर तथा दिल्ली में विशाल रामभक्तों का महासम्मेलन करने की घोषणा की है। इसके अवाला देश के सभी प्रान्तों में तीन से चार बड़ी जनसभाएं होंगी।

बताया कि श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए 18 दिसम्बर को गीता जयंती से आगामी एक सप्ताह तक अपनी-अपनी उपासना अनुसार सभी पंथ-पंथान्तर के लोग धार्मिक अनुष्ठान करेंगे।

संघ के प्रांत सह संघचालक डा.हरमेश सिंह चौहान ने महासम्मेलन के बारे में हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि यह महासम्मेलन सरयू तट पर स्थित रामकथा पार्क में आयोजित होगा। इस महासम्मेलन में संघ के अवध प्रांत के साथ काशी, गोरक्ष व कानपुर प्रांत के सभी कार्यकर्ता शामिल होंगे। वहीं हिन्दू जागरण मंच के क्षेत्रीय संगठन मंत्री शिव कुमार का कहना है कि संतों के नेतृत्व में अयोध्या में होने वाली रैली को हिन्दू जागरण मंच का सक्रिय सहयोग रहेगा।

Updated : 2018-11-09T23:01:11+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top