Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > बुंदेलखंड का कायाकल्प करेगी सरकार, बनेगा हर क्षेत्र में बुलंद -

बुंदेलखंड का कायाकल्प करेगी सरकार, बनेगा हर क्षेत्र में बुलंद -

क्षेत्र के समावेशी विकास को समर्पित योगी ने दिखाई प्रतिबद्धता

बुंदेलखंड का कायाकल्प करेगी सरकार, बनेगा हर क्षेत्र में बुलंद    -
X


लखनऊ। दुर्गम रास्ते, प्यास बुझाने को पानी की किल्लत, औद्योगिक शून्यता। 2017 के पहले तक शौर्य और संस्कार की ऐतिहासिक धरती बुंदेलखंड की यही पहचान थी। पर बीते चार सालों में बुंदेलखंड विकास के नए प्रतिमानों ने बुंदेलखंड की नई पहचान गढ़ दी है। इस क्षेत्र की संस्कृति एवं ऐतिहासिकता को संरक्षित करने के साथ ही प्रदेश की योगी सरकार इसे उद्योग और पर्यटन का हब बनाने में लगी है। बुंदेलखंड को लेकर जारी योजनाओं के पूरा होने पर हर क्षेत्र में नाम के अनुरूप इसकी तस्वीर भी बुलंद होगी।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के साथ ही इस क्षेत्र से हवाई सेवा, डिफेंस कॉरिडोर, रामायण सर्किट, मेडिकल कॉलेज, औद्योगिक क्लस्टरों का विकास इसका जरिया बनेगी। बुंदेलखंड दौरे पर मंगलवार को ललितपुर में बण्डई बांध परियोजना के लोकार्पण समारोह में इस क्षेत्र के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने मास्टर प्लान की झलक दिखाई। उनकी चाहत विकास के माध्यम से बुंदेलखंड की ख्याति धरती का स्वर्ग जैसा करने की है, अपने संबोधन में उन्होंने इस बात को साझा भी किया। 2017 में मुख्यमंत्री बनने के साथ ही बुंदेलखंड को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने की दिशा में कदम बढ़ा दिया था। नतीजा, आज सबके सामने है।

रोड के साथ एयर कनेक्टिविटी पर खासा फोकस-

बुंदेलखंड की बदहाली की एक बड़ी वजह यातायात की दुर्गम स्थिति थी। देश और प्रदेश की राजधानी तक इस क्षेत्र से आना जाना दुरूह था। सीएम योगी ने विकास के अपने मास्टर प्लान में रोड कनेक्टिविटी का ध्यान रखते हुए बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का निर्माण शुरू कराया। आधा काम हो चुका है और इस साल के अंत तक बुंदेली विकास इसी एक्सप्रेसवे पर सरपट भागता नजर आएगा। जिस बुंदेलखंड में एक्सप्रेसवे की ही बात कल्पना थी, वहां हवाई सेवा को भी पंख लगने जा रहे हैं। बुंदेली धरा की धर्मनगरी चित्रकूट के अलावा योगी सरकार ललितपुर,झांसी से भी फ्लाइट की सुविधा देने की घोषणा कर चुकी है। चित्रकूट का हवाईअड्डा तो खूबसूरती का मिसाल बनेगा।

डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर से खुलेंगे रोजगार के द्वार -

चार साल पहले तक पलायन जिस बुंदेलखंड के लोगों का यथार्थ था, वहां रोजगार की असीम संभावनाएं दस्तक दे चुकी हैं। 2018 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इनवेस्टर समिट का आयोजन किया था, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी के लिए डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर की घोषणा की थी। इस कॉरिडोर के लिए जिन छह जिलों को चुना गया उनमें से दो जिले झांसी और चित्रकूट बुंदेलखंड के हैं। अब तो योगी आदित्यनाथ की सरकार चार अन्य बुंदेली जिलों को भी इस कॉरिडोर का हिस्सा बनाने की कार्ययोजना पर आगे बढ़ रही है। लॉकडाउन से पूर्व हुए डिफेंस एक्सपो में करीब दो दर्जन कम्पनियों ने उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) के साथ 50हजार करोड़ रुपये के एमओयू साइन किए हैं। यह निवेश बुंदेलखंड को देश की सुरक्षा संसाधनों का केंद्र तो बनाएगा ही, बड़ी संख्या में रोजगार भी सुनिश्चित होगा। डिफेंस कॉरिडोर के अलावा सीएम योगी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के समानांतर इंडस्ट्रियल कॉरिडोर विकसित करने का निर्देश दे रखा है। इस पर भी कार्य प्रारंभ है और यह कॉरिडोर बुंदेलखंड को औद्योगिक विकास के पैमाने पर चमकाने की दिशा में मील का पत्थर बनेगा।

दूर हुई पेयजल की किल्लत, हर घर नल से जल -

पीने योग्य पानी बुंदेली धरती की बड़ी समस्या थी। पानी के लिए मीलों चलने की मजबूरी थी, पर अब ऐसा नहीं है। बुंदेली लोगों की पेयजल की किल्लत को मूल से दूर करने के लिए जल जीवन मिशन के तहत योगी सरकार ने 30 जून 2020 को हर घर नल से जल की महत्वाकांक्षी योजना की शुरुआत बुंदेलखंड से ही की। शीघ्र ही गांव गांव, घर घर पाइप से जल पहुंचने लगेगा। वह भी फ्लोराइड और आर्सेनिक से मुक्त।

रामायण सर्किट से पुनर्स्थापित होगा चित्रकूट का गौरव

धार्मिक पर्यटन का प्रमुख केंद्र होने के बावजूद धर्मनगरी चित्रकूट उपेक्षा का शिकार था। भगवान श्रीराम के वनवास स्थल और उनसे जुड़ी अनेक पौराणिक स्मृतियों के साक्षी चित्रकूट की सुध लेने का श्रेय भी योगी सरकार को ही है। रामायण सर्किट के माध्यम से विकास कर इसके गौरव को पुनर्स्थापित कर चित्रकूट को पर्यटन के नक्शे पर निखारा जा रहा है। सीधी हवाई सेवा से यहां देश के साथ ही विदेश के सनातन आस्थावानों की आमद बढ़ने से पर्यटन विकास के माध्यम से रोजगार भी बढ़ेगा। वहां चल रही विकास योजनाओं की प्रगति जानने, मौके पर जाकर उनकी प्रगति देखने और समीक्षा बैठक के जरिए जरूरी निर्देश देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिन के दौरे पर बुंदेलखंड में ही हैं।

Updated : 2021-10-12T16:22:36+05:30

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top