Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > अमर ने आजम पर की यह टिप्पणी, जानिए क्या बोला

अमर ने आजम पर की यह टिप्पणी, जानिए क्या बोला

अमर ने आजम पर की यह टिप्पणी, जानिए क्या बोला
X

लखनऊ। राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और आजम खान पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने आजम को मुलायम का दत्तक पुत्र भी बताया। कहा कि आजम खां मेरी बेटियों पर तेजाब फेंकवाने की बात कहता है। ये सुनकर मेरी पत्नी रोती है। मैं 30 अगस्त को रामपुर जा रहा हूं। मैं कहता हूं कि आजम खां मेरी कुर्बानी ले ले और मेरी बेटियों को रहने दो। अमर सिंह ने कहा कि आजम ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद को अपना आदर्श बताया था। भारत मां को डायन कहा था। ऐसे लोगों को भारत में नहीं रहना चाहिए।

अमर सिंह मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आजम खान ने अपने पिता के नाम पर घोटाला कर विश्वविद्यालय बनाया है। यदि झूठ बोलने की कोई प्रतियोगिता हो तो आजम खान ही पुरस्कार जीतेंगे। सिंह ने कहा कि मुलायम का जन्मदिन मनाने के बाद आजम खान ने खुलेआम कहा था कि उन्हें दाऊद इब्राहिम और अबु सलेम से पैसे मिलते हैं।

उन्होंने कहा कि लोहिया जी ने पार्टी में अपने परिवार के किसी सदस्य को स्थान नहीं दिया था, लेकिन यहां तो पूरी पार्टी ही परिवार से ही भरी पड़ी है। उन्होंने कहा कि आजम खान कहते हैं कि मैं अवसरवादी हूं तो हां मैं ऐसा हूं, क्योंकि मैंने अपनी पत्नी को राज्यसभा नहीं भेजा। मैं अवसरवादी हूं क्योंकि मेरी कोई औलाद राजनीति में नहीं है।

राज्यसभा सासंद अमर सिंह ने आरोप लगाया कि जब आजम खान समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी मंत्री थे तब मुजफ्फरनगर के दंगे हुए। उन्होंने कहा कि देश विभाजन के समय भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कोई दंगा नहीं हुआ था, लेकिन आजम खान के प्रभारी रहने के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश दंगों की आग में झुलसा।

अमर सिंह ने आजम खान द्वारा एक चैनल पर दिए गए विवादित बयान से जुड़ा वीडियो पेश करते हुए कहा, छेड़छाड़ करने वाला हिन्दू-मुसलमान नहीं होता। वहीं मुजफ्फरनगर में दंगे के दौरान सैफई में मल्लिका शेरावत का डांस होता रहा। पीएम मोदी पर गुजरात के दंगे का कलंक लगाने वाले मुजफ्फरनगर में हुए दंगे के वक्त कहां थे।

अमर सिंह ने कहा कि मैं अब्दुल हमीद जैसे मुस्लमानों का समर्थक हूं, लेकिन महिलाओं की अस्मत से खेलने वाले मुसलमानों का घोर विरोधी हूं। अमर सिंह ने शिवपाल सिंह यादव की उपेक्षा पर भी दुख जताया। अमर सिंह ने कहा कि मैंने उनके लिए भाजपा में अच्छे पद पर बात की थी, लेकिन वह नहीं गए। अब मेरे शिवपाल से कोई संबंध नहीं हैं।

Updated : 2018-08-30T00:27:58+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top