Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव

- उन्नाव की दुष्कर्म पीड़ित युवती की मौत के बाद गरमाई विपक्ष की राजनीति - अखिलेश के धरने पर बैठते ही पुलिस के हाथ-पांव फूले - कांग्रेस कार्यकर्ता भी भाजपा कार्यालय पर प्रदर्शन की कर रहे तैयारी

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव

लखनऊ। उन्नाव दुष्कर्म पीड़ित युवती की मौत के बाद एक तरफ जहां लोगों में आक्रोश है, प्रदेश सरकार त्वरित कार्रवाई के लिए हर कदम उठा रही है। विपक्ष लोगों के आक्रोश को धधकाने की कोशिश कर रहा है। आज एक तरफ जहां कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लखनऊ से उन्नाव के लिए निकल गयीं, दूसरी तरफ वहीं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव विधान सभा के बाहर धरने पर बैठ गए। कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा कार्यालय पर धरना देने की तैयारी कर रहे हैं। उनके धरने पर बैठते ही पुलिस के हाथ-पांव फूल गये। अखिलेश यादव ने कहा कि उन्नाव की बहादुर बेटी ने आज योगी सरकार की नाकामयाबी के कारण दम तोड़ दिया। एक बहादुर बेटी की जान सरकार नहीं बचा पाई। भाजपा से प्रदेश की बेटियां आज न्याय मांग रही हैं।

सुबह 10 बजे के बाद कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठे अखिलेश यादव कुछ देर तक मौन रहे। इसके बाद वे मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने कहा कि जो मुख्यमंत्री योगी कानून व्यवस्था ठीक करने का दावा करते हैं। आज उनकी नाकामयाबी के कारण एक बहादुर बेटी को दरिंदों ने मार दिया और सरकार उसकी जान तक नहीं बचा सकी। ऐसे में पूरे प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। महिलाएं योगी सरकार से न्याय मांग रही हैं।

उन्होंने कहा कि उन्नाव की घटना बेहद निंदनीय है। योगी सरकार में यह पहली घटना नहीं है। इस तरह की आये दिन घटनाएं हो रही हैं लेकिन भाजपा सिर्फ अपना गुणगान करने में जुटी हुई है। महिलाओं को आज न्याय की जरूरत है। बेटी ने कहा था कि वह जिन्दा रहना चाहती है लेकिन सरकार उसे जिंदा नहीं रख सकी। 90 प्रतिशत जलने के बाद भी बहादुर बेटी ने खुद पुलिस को फोन किया।

Updated : 7 Dec 2019 5:00 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top