Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > कोरोना वायरस के खौफ से 90 वाला मास्क 200 रुपए में बिका

कोरोना वायरस के खौफ से 90 वाला मास्क 200 रुपए में बिका

कोरोना वायरस के खौफ से 90 वाला मास्क 200 रुपए में बिका
X

लखनऊ। आगरा के छह मरीजों में कोरोना की पुष्टि की खबर से राजधानी में हड़कंप मच गया। दवा कारोबार में खलबली मच गई। अचानक बाजार से मास्क गायब हो गया। यूपी में 24 घंटे के भीतर करीब तीन लाख मास्क बिक गए। थोक बाजार में तो मास्क की जबरदस्त किल्लत शुरू हो गई। वहीं फुटकर बाजार में मास्क की कीमत में तीन से चार गुना का इजाफा हो गया। इसी तरह सेनेटाइजर की भी कमी हो गई है।

यूपी में करीब एक लाख 28 हजार थोक व फुटकर दवा की दुकानें हैं। इनमें रोजाना करोड़ों रुपये के दवा व सर्जिकल आइटम का कारोबार है। 24 घंटे के बाद थोक व फुटकर दवा की दुकानों से मास्क व सेनेटाइजर गायब हो गया। फुटकर दवा की दुकानों में बढ़ी जद्दोजहद के बाद मास्क मिल रहा है। लोहिया अस्पताल के पास खुले मेडिकल स्टोर में 90 रुपये वाला एन-95 मास्क 200 रुपये में बिक रहा है। दो से तीन रुपये कीमत वाला मास्क 20 से 25 रुपये में मिल रहा है। बलरामपुर अस्पताल के पास मेडिकल स्टोर में 75 रुपये वाला मास्क 180 रुपये में बिक रहा है। सेनेटाइजर 80 रुपये वाला 120 रुपये में चोरी छिपे बिक रहे हैं।

कैमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष गिरिराज रस्तोगी के मुताबिक मास्क की मांग बढ़ गई है। कालाबाजारी व उसकी कीमतों में इजाफे की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि चीन से 70 प्रतिशत दवा निर्माण में इस्तेमाल होने वाला कच्चा माल आता था। करीब दो माह से कच्चे माल की आपूर्ति ठप है। इसका फर्क दवा कारोबार पर पड़ा है। दवा के नए स्टॉक की आपूर्ति प्रभावित है। सबसे ज्यादा संकट बुखार, सर्दी-जुकाम, एंटीबायोटिक समेत दूसरी दवाओं का है। नामी कंपनियों और जेनेरिक दवाओं की कीमत बढ़ने के आसार बढ़ गए हैं। करीब 10 प्रतिशत तक कीमत में इजाफा हो सकता है।

केजीएमयू प्रवक्ता विकास रस्तोगी के मुताबिक दो माह पूर्व सेनेटाइजर की बिक्री न के बराबर थी। 24 घंटे में अचानक बिक्री में तेजी से इजाफा हुआ है। हालात यह है कि शाम तक थोक व फुटकर दवा की दुकानों में सेनेटाइजर की किल्लत शुरू हो गई है।

Updated : 2020-03-05T12:24:50+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top