Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > योगी सरकार पुलिस, कारागार और अग्निशमन में करेगी 56778 भर्तियां

योगी सरकार पुलिस, कारागार और अग्निशमन में करेगी 56778 भर्तियां

योगी सरकार पुलिस, कारागार और अग्निशमन में करेगी 56778 भर्तियां
X

लखनऊ/स्वदेश वेब डेस्क। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सरकारी नौकरी की चाह रखने वाले युवाओं को तोहफा देते हुए पुलिस, कारागार और अग्निशमन विभाग में 56778 भर्तियां करने की घोषणा की है।

पुलिस में सिपाहियों की कमी को देखते हुये इक्यावन हजार दो सो सोलह जवानों की भर्ती की जाएगी। यह पहले से चल रही बयालिस हजार सिपाहियों की भर्ती प्रक्रिया से अलग होगी।

राज्य के प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार और पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह ने पत्रकारों को बृहस्पतिवार को बताया कि 51216 में से 32000 सिपाही सिविल पुलिस के लिये भर्ती किये जायेंगे जबकि 19216 जवानों की भर्ती पीएसी में होगी।

उन्होंने बताया कि​ 51216 पदों के लिये फार्म एक से तीस नवम्बर तक भरे जा सकेंगे। चार और पांच जनवरी को परीक्षा होगी। परीक्षाफल जून के तीसरे सप्ताह में घोषित किये जायेंगे। इसमें 20 फीसदी पद महिलाओं के लिये आरक्षित होंगे। भर्ती प्र​क्रिया पूरी हो जाने पर प्रदेश के सभी थानों पर महिला सिपाहियों की उपलब्धता हो जायेगी।

इसके अलावा कारागार विभाग में 624 म​​हिलाओं समेत 3638 बन्दी रक्षकों और अग्निशमन विभाग में 1924 फायरमेन की भर्ती की जायेगी। कारागार विभाग में भर्ती के लिये आगामी आठ और नौ जनवरी को लिखित परीक्षा होगी। जुलाई के अन्तिम सप्ताह में परिणाम आ जायेंगे। इन परीक्षाओं में साक्षात्कार नहीं होगा। अग्निशमन विभाग की भर्ती के लिये पांच नवम्बर से चार दिसम्बर तक आवेदन फार्म जमा करने होंगे। दस जनवरी को परीक्षा होगी और जुलाई में परिणाम घोषित होंगे।

श्री कुमार ने बताया कि राज्य में सिविल पुलिस और पीएसी में सिपाहियों के दो लाख 29 हजार पद स्वीकृत हैं, जिसमें 97000 पद खाली हैं। दोनों भर्ती प्रक्रिया पूरी हो जाने पर इस फोर्स में जवानों की कमी पूरी हो जायेगी। इससे कानून व्यवस्था और चुस्त दुरूस्त करने में मदद मिलेगी।

प्रमुख सचिव गृह ने बताया कि 42000 सिपाहियों की चल रही भर्ती में इलाहाबाद (प्रयागराज) और एटा में दूसरी पाली का प्रश्नपत्र प्रथम पाली में खोल दिये जाने के कारण वहां परीक्षा दोबारा करानी पड़ रही है,इसलिये परीक्षाफल घोषित करने में व्यवधान आया। इलाहाबाद और एटा में 25 तथा 26 अक्टूबर को तीन पालियों में परीक्षा करायी जा रही है। दोनों जिलों में करीब नौ लाख पचहत्तर हजार अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। यह परीक्षा 482 केन्द्रों पर होगी। इसका अन्तिम परिणाम 15 दिसम्बर को आने की सम्भावना है।

उन्होंने दावा किया कि परीक्षा पूरी तरह पारदर्शी होगी। नकल कराने या अन्य तरह से गड़बड़ी करने की कोशिश करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। परीक्षा को सही ढंग से सम्पन्न कराने के लिये स्पेशल टास्क फोर्स की भी मदद ली जायेगी।

श्री कुमार ने बताया कि 42 हजार पदों के लिये आये 24 लाख प्रार्थनापत्रों को देखते हुये उम्मीद है कि भर्ती की नयी घोषणा वाले पदों की खातिर 35 लाख से अधिक आवेदन आने की सम्भावना है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 में निरीक्षक,उपनिरीक्षक और सिपाहियों की कुल 37575 प्रोन्नतियां की गयी हैं।

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि सिपाहियों के प्रशिक्षण के लिये जालौन और सुल्तानपुर में केन्द्र बनकर लगभग तैयार हैं। दीपावली से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा इसका उद्घाटन करने की सम्भावना है। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के लिये स्थान की कमी नहीं है फिर भी प्रशिक्षण केन्द्र की कमी महसूस की गयी तो दूसरे राज्यों या केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल की मदद ली जायेगी।

Updated : 2018-10-18T19:38:37+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top