Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > नहीं उठे दुकानों के शटर, दिखा गम, गुस्सा और गुब्बार

नहीं उठे दुकानों के शटर, दिखा गम, गुस्सा और गुब्बार

नहीं उठे दुकानों के शटर, दिखा गम, गुस्सा और गुब्बार
X

भारत बंद का दिखा पूरी तरह असर

आगरा। आतंकी हमले को लेकर ताजनगरी में गम, गुस्सा और गुब्बार दिखाई दिया। शनिवार को सडक़ों पर सन्नाटा पसरा हुआ था। भीड़ से खचाखच भरे रहने वाले बाजार भी इस तरह सूनसान पड़े थे, मानो जैसे कफ्र्यू लग गया हो। लोगों की टोलियां अलग अलग नजर आ रही थीं। हाथों में तिरंगा और काली पट्टी बाधें हुए लोगों में गुस्सा नजर आ रहा था। भारत के वीर सपूतों की शहादत को लेकर व्यापारियों ने जो भारत बंद का ऐलान किया, उसका पूरी तरह असर दिखाई दे रहा था।

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए भारतीय जवानों की शहादत पर व्यापारियों ने भारत बंद का ऐलान किया था। 16 फरवरी की सुबह इस बंद का असर पूरी तरह दिखाई दिया। राजा मंडी, शाहगंज, फुव्वारा, सुभाष बाजार, सदर बाजार, बोदला, सिकंदरा सहित शहर के तमात छोटे दुकानदारों ने अपने प्रतिष्ठानों के शटर तक नहीं उठाये।

वहीं शहीद कौशल किशोर के निवास केहरई की ओर की बात करें, तो यहां शहीद नगर से लेकर केहरई तक सभी प्रतिष्ठान बंद थे। हर कोई नम आंखों के साथ आगरा के वीर सपूत के भारत मां पर कुर्बान होने पर गर्व करते हुए विदाई दे रहा था। वहीं भारत बंद के दौरान व्यापारियों ने जगह जगह प्रदर्शन किये। शाहगंज, राजा मंडी, सुभाष बाजार और बोदला बाजार कमेटियों ने जुलूस निकालकर पाकिस्तान का पुतला दहन किया। इस दौरान भारत माता के जयकारों की गूंज सुनाई दी, तो वहीं पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारों में व्यापारियों का आक्रोश। सबसे खास बात ये थी, कि न किसी से दुश्मनी थी और नाहीं किसी से वैर, सभी तिरंगे के नीचे एकजुट होकर एकता का परिचय दे रहे थे।


Updated : 2019-02-16T21:14:23+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top