Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > एनपीटीईएल के लोकल चैप्टर की जीएलए में शुरूआत

एनपीटीईएल के लोकल चैप्टर की जीएलए में शुरूआत

एनपीटीईएल के लोकल चैप्टर की जीएलए में शुरूआत
X

जीएलए में शुरू एनपीटीईएल के इस कोर्स में 450 से अधिक छात्र करा चुके हैं रजिस्ट्रेशन

मथुरा। जीएलए विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग, साइंस और ह्यूमैनिटीज के विभिन्न विषयों की पढ़ाई करने वाले छात्र एवं शिक्षकों के लिए विश्वविद्यालय ने एक नेशनल प्रोग्राम ऑन टैक्नोलॉजी इन्हेन्स्ड लर्निंग (एनपीटीईएल) लोकल चैप्टर की स्थापना की है। इससे छात्रों को एक प्लेटफार्म तो मिलेगा ही साथ ही साथ यह छात्रों के लिए एक मील का पत्थर भी साबित होगा। यह चैप्टर आईआईटी एवं आईआईएससी का सम्मिलित उपक्रम है।

जीएलए विश्वविद्यालय और आईआईटी मद्रास की इस अनूठी पहल से उन छात्रों को फायदा होगा जो विज्ञान और इंजीनियरिंग के कठिन विषयों इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग, मैकेनिक्स, ऑप्टिक्स आदि के दौरान इन विषयों के कठिन पाठ्यक्रम से परेशान रहते हैं। लोकल चैप्टर की स्थापना हो जाने से छात्र एवं शिक्षक किसी भी विषय पर आईआईटी द्वारा अपलोड स्लेबस एवं वीडियोज से मदद ले सकते हैं। साथ ही साथ आईआईटी के फैकल्टी मैंबर्स से सवाल-जवाब कर सकते हैं।

जीएलए के डीन एकेडमिक प्रो. अनूप कुमार गुप्ता का कहना है कि यह एक बहुत अच्छा प्लेटफार्म है जो छात्रों को आईआईटी के प्रोफेसर से पढऩे के अलावा आईआईटी और आईआईएससी के द्वारा प्रमाण पत्र दिये जाएंगे और विश्वविद्यालय इसको अपने चॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) में शामिल करने जा रहा है, जिससे अधिक से अधिक छात्र इससे जुडक़र फायदा ले सकें।

लाइब्रेरियन डॉ. पीएम गुप्ता ने बताया कि भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय की सोच लर्निंग एनी टाईम, एनी व्हेयर, एनी वन को आईआईटी व आईआईएस सी के माध्यम से एनपीटीईएल के रूप में साकार किया गया है। उन्होंने बताया कि इस चैप्टर में अभी तक 450 से अधिक छात्र अपना रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। डॉ. गुप्ता ने यह भी बताया कि जनवरी से जून 2019 तक 290 कोर्स ओपन हैं, जिसमें छात्रों के लिए रजिस्ट्रेशन बिल्कुल फ्री है।

Updated : 2019-02-09T23:15:22+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top