Home > राज्य > अन्य > राम नाम का जाप कराएंगे तृणमूल नेता मदन मित्रा

राम नाम का जाप कराएंगे तृणमूल नेता मदन मित्रा

राम नाम का जाप कराएंगे तृणमूल नेता मदन मित्रा
X

कोलकाता, 18 जुलाई। चिटफंड मामले में 21 महीने तक जेल की हवा खा चुके राज्य के पूर्व परिवहन और खेल मंत्री मदन मित्रा अब राम नाम का जाप कराने जा रहे हैं। एक बयान में उन्होंने कहा है कि आगामी 24 जुलाई को कोलकाता के भवानीपुर स्थित अपने आवास पर राम कथा का आयोजन करने जा रहे हैं। उनके इस निर्णय से एक तरफ तृणमूल कांग्रेस के नेता हैरान परेशान हैं तो दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी ने इसकी प्रशंसा की है। मदन मित्रा ने यह भी घोषणा की है कि दुर्गा पूजा के समय वह मां दुर्गा की प्रतिमा के साथ भगवान राम और माता सीता की मूर्ति भी स्थापित करेंगे।

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने मदन मित्रा के इस कदम की सराहना की है। उन्होंने कहा कि कम से कम मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ रहने वाले एक व्यक्ति की तो बुद्धि सुधरी। अच्छी बात है कि उन्हें भगवान राम पर आस्था उमड़ रही है और पूजा पाठ की ओर आगे बढ़ रहे हैं। सिन्हा ने कहा कि मुख्यमंत्री के भी बुद्धि में बदलाव आए और वह भी भगवान राम को मानने लगें तो इससे राज्य का भला होगा।

हालांकि मदन मित्रा ने कहा कि वह तृणमूल नेता के तौर पर नहीं बल्कि एक साधारण भारतीय नागरिक के तौर पर भगवान राम की पूजा आयोजित कर रहे हैं। मित्रा के करीबियों का कहना है कि तृणमूल के नेताओं ने भी उनके इस आयोजन का समर्थन किया है। इसके पीछे कोई राजनीति नहीं है। मदन मित्रा ने कहा कि हमारा संविधान धर्मनिरपेक्षता के बारे में बात करता है। भाजपा ने भगवान राम को अपना राजनीतिक एजेंडा बनाकर उनका केवल राजनीतिक इस्तेमाल करना शुरू किया है। भाजपा के कार्यकर्ता राम नाम पर हमले करते हैं लेकिन हम लोग भगवान राम के नाम पर पूजा पाठ कर सद्भावना का संदेश देंगे।

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव के समय मुख्यमंत्री ने मदन मित्रा बैरकपुर के भाटपाड़ा विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया था। हालांकि वे यहां भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के बेटे पवन सिंह से हार गए थे लेकिन उनकी उम्मीदवारी के बाद पूरा क्षेत्र हिंसा की चपेट में आ गया था। उन पर आरोप लगा था कि कोलकाता और आसपास के क्षेत्रों से अपराधियों को एकत्रित कर भाटपाड़ा में बहुसंख्यक समुदाय के घरों पर हमले कराए थे। उसी समय मुख्यमंत्री के बैरकपुर दौरे के दौरान लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगाए थे जिस पर ममता काफी आग बबूला हुई थीं। उन्होंने अपनी गाड़ी से उतरकर जय श्री राम की नारेबाजी कर रहे लोगों को गालियां दी थी और उनके खिलाफ कार्रवाई की धमकी भी दी थी। अब उन्हीं की पार्टी के दबंग नेताओं में से एक मदन मित्रा ने अपने आवास पर रामकथा आयोजित करने का निर्णय लिया है। (हि.स.)

Updated : 2019-07-19T14:08:43+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top