Home > राज्य > अन्य > बंगाल की हिंसक राजनीति पर बनी फिल्म को मुख्यमंत्री के दबाव में किया गया बंद

बंगाल की हिंसक राजनीति पर बनी फिल्म को मुख्यमंत्री के दबाव में किया गया बंद

बंगाल की हिंसक राजनीति पर बनी फिल्म को मुख्यमंत्री के दबाव में किया गया बंद
X

कोलकाता। अमूमन बोलने और संवाद की स्वाधीनता को लेकर बड़ी-बड़ी बातें करने वाली मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के दबाव में बंगाल के अधिकतर हिस्से में एक बांग्ला फिल्म का प्रदर्शन बंद कर दिया गया है।

आरोप है कि इस फिल्म में वर्तमान राजनीतिक परिवेश और बंगाल के हिंसक हालात को प्रदर्शित करने की कोशिश की गई है। निर्देशक अनिक दत्त ने 'भविष्यत भूत' (भविष्य का भूत) नाम की एक फिल्म बनाई है, जिसमें राज्य में मौजूदा राजनीतिक हालात, हिंसक परिस्थिति, तुष्टीकरण और घुसपैठ को लेकर दृश्य फिल्माए गए हैं।

गत शुक्रवार को ही यह फिल्म रिलीज हुई थी, जिसके बाद कोलकाता के कई सिनेमा हॉल में यह फिल्म प्रदर्शित की जा रही थी लेकिन शनिवार दोपहर अचानक सभी सिनेमा हॉल में उसका प्रदर्शन रोक दिया गया। जिन लोगों ने पहले से टिकट करा रखा था उनके रुपये भी लौटा दिए गए। कारण पूछने पर हॉल प्रबंधन की ओर से बताया गया कि उन्हें ऊपर से निर्देश मिला है कि फिल्म नहीं दिखाई जाएगी। देर रात फिल्म निर्देशक अनिक दत्त अभिनेता कौशिक सेन को लेकर साउथ सिटी आईनॉक्स के मल्टीप्लेक्स में पहुंचे और फिल्म नहीं प्रदर्शित करने का कारण पूछा। इस पर कहा गया कि ऊपर से आदेश है, नहीं चला सकते।

रविवार सुबह अनिक ने कहा है कि फिल्म की शूटिंग से लेकर इसे पूरा करने तक इसे हर तरह से रोकने की कोशिश की गई। टेक्निशियंस को धमकाया गया। यहां तक कि बॉलीवुड का जब पूरा समर्थन मिला तब जाकर जैसे-तैसे फिल्म पूरी हुई। सेंसर बोर्ड से अनुमति मिल गई है, इसके बावजूद मुख्यमंत्री के दबाव पर इस फिल्म को बंद कर दिया गया। उन्होंने कहा कि जो थोड़ी सी निंदा नहीं सह सकतीं वह लोकतंत्र की बात करती हैं तो क्या यही ममता की बोलने की स्वतंत्रता है?

अनिक ने आगे कहा कि मैं फिल्म को नेटफ्लिक्स और यूट्यूब पर अपलोड कर दूंगा तो क्या वो रोक पाएंगी? उन्होंने चेतावनी दी है कि फिल्म को अचानक बंद किए जाने को लेकर राज्य सरकार के खिलाफ न्यायालय का दरवाजा खटखटाया जाएगा। इधर फिल्म को बंद कराने के लिए हॉल प्रबंधन पर दबाव बनाने के आरोपों को कोलकाता पुलिस ने नकारा है। लालबाजार स्थित कोलकाता पुलिस मुख्यालय की ओर से बताया गया है कि फिल्म को बंद करने संबंधी कोई भी आदेश नहीं दिया गया है।

Updated : 17 Feb 2019 9:47 AM GMT

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top