Top
Home > राज्य > अन्य > पक्ष-विपक्ष में मतभेद होने चाहिए, मन भेद नहीं : अशोक गहलोत

पक्ष-विपक्ष में मतभेद होने चाहिए, मन भेद नहीं : अशोक गहलोत

पक्ष-विपक्ष में मतभेद होने चाहिए, मन भेद नहीं : अशोक गहलोत

जयपुर। राजस्थान के नवनिर्वाचित विधायकों को संसदीय प्रक्रिया एवं कार्य व्यवहार की जानकारी उपलब्ध कराने के लिए एक दिवसीय प्रबोधन कार्यक्रम रविवार को राजस्थान विधानसभा में आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने किया। विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने स्वागत भाषण दिया। इसके बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि हम इस सदन में बैठकर जनता की समस्याओं का निदान करेंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मैं लोकसभा अध्यक्ष आेम बिरला का स्वागत करता हूं। उन्होंने राजस्थान का नाम रोशन किया है। हमें गर्व है कि उन्होंने हमारे इस सदन का गौरव बढाया है। बलराम जाखड भी यहीं से चुनकर लोकसभा अध्यक्ष बने थे। राजस्थान विधानसभा का इतिहास गौरवशाली रहा है। मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि पक्ष-विपक्ष में मतभेद होने चाहिए, मन भेद नहीं होने चाहिए। इस अवसर पर संसदीय कार्य मंत्री शांति कुमार धारीवाल, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड उपस्थित थे। प्रबोधन कार्यक्रम का समापन शाम को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह करेंगे।

Updated : 7 July 2019 7:00 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top