Home > राज्य > अन्य > भारत तोड़ने की भाषा बर्दाश्त नहीं की जाएगी : संजय राऊत

भारत तोड़ने की भाषा बर्दाश्त नहीं की जाएगी : संजय राऊत

- अयोध्या जाएंगे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लेकिन अभी कार्यक्रम फाइनल नहीं

भारत तोड़ने की भाषा बर्दाश्त नहीं की जाएगी : संजय राऊत
X

मुंबई। शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा कि हिन्दुस्थान तोड़ने की भाषा किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। राऊत ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अयोध्या जाएंगे और रामलला का दर्शन करेंगे। कोई भी ताकत उद्धव ठाकरे को अयोध्या जाने से रोक नहीं सकती।

संजय राऊत ने मंगलवार को पत्रकारों को बताया कि उद्धव ठाकरे ने चुनाव से पहले अयोध्या जाकर भगवान राम के दर्शन किये थे। मुख्यमंत्री बनने के बाद वे फिर से अयोध्या जाएंगे लेकिन अभी उनका कार्यक्रम फाइनल नहीं हुआ है। राऊत ने गेट वे ऑफ इंडिया पर प्रदर्शन करते हुए कुछ छात्रों द्वारा लगाए गए फ्री कश्मीर के बैनरों का समर्थन करते हुए कहा कि यह सभी कश्मीर में लगी पाबंदी से आजादी के लिए किया जा रहा है। कश्मीर में इंटरनेट , मोबाइल पर पाबंदी लगाई गई है। लोगों की आवाजाही पर पाबंदी है। इससे कश्मीर को फ्री किया जाना चाहिए। इस आंदोलन का मतलब कश्मीर को हिन्दुस्थान से तोड़ने से नहीं लगाया जाना चाहिए। राऊत ने कहा कि अगर कश्मीर को हिन्दुस्थान से तोड़ने की बात की जाएगी तो उसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। राऊत ने कहा कि जेएनयू में जिस तरह से नकाबपोश लोगों ने घुसकर छात्रों व प्राध्यापकों की पिटाई की है, वह निंदनीय है। अगर किसी को अपनी भावना जतानी है तो नकाब क्यों? राऊत ने कहा कि रात के अंधेरे में चोर, डकैत, आतंकवादी नकाब डालकर काला कृत्य करते हैं। इस मामले की जांच का आदेश केंद्रीय गृहमंत्री ने दे दिया है, बहुत जल्द सब सामने आ जाएगा।

संजय राऊत ने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह घर-घर जाकर सीएए व एनआरसी के समर्थन के लिए पर्चा बाट रहे हैं। अमित शाह हमारे आदरणीय गृहमंत्री हैं, मंत्रालय में बहुत काम पड़े हैं, इसकी बजाय उन्हें पर्चा बांटना शोभा नहीं देता है।

Updated : 7 Jan 2020 9:24 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top