Home > राज्य > अन्य > कांग्रेस नेताओं की रैली में संवेदनाएं कम राजनीति ज्यादा : जयराम ठाकुर

कांग्रेस नेताओं की रैली में संवेदनाएं कम राजनीति ज्यादा : जयराम ठाकुर

कांग्रेस नेताओं की रैली में संवेदनाएं कम राजनीति ज्यादा : जयराम ठाकुर
X

भरमौर। कांग्रेस नेताओं की रैली में संवेदनाएं व सत्यता कम और राजनीति ज्यादा है। विपक्ष पर यह कटाक्ष मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भरमौर में किया। सीएम जयराम ठाकुर ने बुधवार को भरमौर में मंडी संसदीय सीट से बीजेपी प्रत्याशी खुशाल ठाकुर के लिए चुनावी जनसभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा, "वीरभद्र सिंह हमारे बीच नहीं हैं, हमें उनकी कमी महसूस होती है। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं। ईश्वर उनके परिवार को इस दुख की घड़ी को सहने की शक्ति दे।" इसके बाद उन्होंने हाल ही में भरमौर में हुई कांग्रेस नेताओं की रैली पर कटाक्ष किया।

जयराम ठाकुर ने कहा कि हालांकि कुछ दिन पहले यहां कांग्रेस के नेताओं ने भी रैली की। लोग कह रहे हैं कि उनके नेता जिस तरह से रैली में व्यवहार कर रहे हैं, उसमें सत्यता व संवेदनाएं कम और राजनीति ज्यादा है। मुख्यमंत्री कहा कि हमने भी रामस्वरूप शर्मा को खोया है। हमें वीरभद्र सिंह, नरेंद्र बरागटा, सुजान सिंह पठानिया के जाने का दुख है। क्या हमें भावनाओं में बहकर काम करना है? भरमौर विधानसभा को विकास की आवश्यकता है। विकास का काम तब किया जा सकता है जब केंद्र और हिमाचल में बीजेपी की सरकार को मजबूत किया जाए।

इस दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पूर्व सांसद स्वर्गीय रामस्वरूप शर्मा को भी याद किया। उन्होंने कहा कि भरमौर से 2019 के लोकसभा चुनाव में 20 हजार वोट की बढ़त रामस्वरूप शर्मा को मिली थी। शायद ये आज तक के सभी लोकसभा चुनाव में भरमौर से सबसे बड़ी लीड थी।

इससे पहले बीजेपी प्रत्याशी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर ने जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने सबसे पहले पूर्व सांसद पंडित रामस्वरूप शर्मा, पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने एक पूर्व सैनिक को सम्मान दिया है।

उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह के कारगिल युद्ध पर दिए बयान पर कहा, "ये कहा गया कि कारगिल तो छोटा-मोटा युद्ध था। कारगिल में देश के 527 और हिमाचल के 52 रणबांकुरे शहीद हुए। मेरी 18 ब्रिगेडियर के 34 जवान शहीद हुए। ऐसे युद्ध पर भी इस तरह की टिप्पणी की गई। वो बयान इन सभी वीरों और शहीदों का अपमान है।"

Updated : 13 Oct 2021 12:21 PM GMT

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top