Home > राज्य > अन्य > बीजद की मानसिकता तानाशाही वाली : धर्मेन्द्र प्रधान

बीजद की मानसिकता तानाशाही वाली : धर्मेन्द्र प्रधान

ओडिशा की पहचान महाप्रभु श्रीजगन्नाथ से लेकर मधुसूदन तक से हैं, न कि नवीन पटनायक से

बीजद की मानसिकता तानाशाही वाली : धर्मेन्द्र प्रधान
X

भुवनेश्वर। केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि लंबे समय तक सत्ता में रहने के कारण बीजद के कुछ लोगों की मानसिकता तानाशाही वाली हो चुकी है । उन्होंने कहा कि ओडिशा की पहचान सही मायने में महाप्रभु श्रीजगन्नाथ से लेकर मधुसूदन बाबू तक से हैं, न कि सिर्फ बीजद व नवीन पटनायक से ही है|

उत्कल गौरव मधुसूदन दास की जयंती पर सोशल मीडिया में एक वीडियो पोस्ट कर केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने यह बात कही । उन्होंने कहा कि आधुनिक ओडिशा को वैश्विक स्तर पर बड़ा बताने वाले व्यक्ति थे मधुसूदन दास । उनके व उनके काल के कुछ समर्थक नेताओं के कारण ही ओडिशा को भाषा के आधार पर अलग राज्य बनाया जा सका था। उन्होंने कहा कि बीजू जनता दल द्वारा स्थानीय समाचार पत्रों में एक विज्ञापन देकर कहा गया था कि नवीन पटनायक ओडिशा की पहचान हैं, जो सही नहीं है |

प्रधान ने इस वीडियो में कहा कि अब प्रदेश में यह बहस हो रही है कि ओडिशा की पहचान क्या है ? कुछ लोग जब लंबे समय तक सत्ता में रहते हैं तो उनके मन में यह अहंकार आ जाता है कि हम ही दुनिया हैं । दुनिया हमसे शुरू होकर हम तक समाप्त भी होती है । इसी को तानाशाही प्रवृत्ति कहते हैं।

Updated : 28 April 2019 2:24 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top