Home > राज्य > अन्य > बंगाल उद्योग और निवेश के लिए केंद्रबिंदु बनकर उभरा

बंगाल उद्योग और निवेश के लिए केंद्रबिंदु बनकर उभरा

बंगाल उद्योग और निवेश के लिए केंद्रबिंदु बनकर उभरा
X

कोलकाता। राजारहाट के विश्व बांग्ला कन्वेंशन सेंटर में गुरुवार को शुरू हुए बंगाल वैश्विक शिखर सम्मेलन में ममता बनर्जी ने दावा किया कि उनके शासनकाल में बंगाल काफी तेजी से विकास कर रहा है। उनकी सरकार की सरल उद्योग नीतियों की वजह से वर्तमान में बंगाल उद्योग और निवेश के लिए केंद्रबिंदु बनकर उभरा है।

ममता ने कहा कि बंगाल आगे बढ़ रहा है। हम व्यवसायी, किसान और बेरोजगार युवाओं के लिए उम्मीद का केंद्र बन गए हैं। हम चाहते हैं कि भारत आगे बढ़े, हर राज्य तरक्की करे। ममता ने कहा कि 2011 में राज्य की सत्ता पर आरूढ़ होने के बाद से उनकी सरकार ने बंगाल में निवेश को बढ़ावा देने के लिए उद्योग नीति को सरल किया है। औद्योगिक निवेश के लिए हर तरह के डॉक्यूमेंट क्लीयरेंस आसान करने हेतु सिंगल विंडो सिस्टम शुरू किया है। सारी प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया है।

उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस सरकार ने बीते चार वर्षों की तरह इस वर्ष भी सात व आठ फरवरी को दो दिवसीय बंगाल ग्लोबल बिजनेस समिट का आयोजन किया है। सरकार का दावा है कि बीते साल 32 देशों के प्रतिनिधियों ने इसमें हिस्सा लिया था और 2020 लाख करोड़ से ज्यादा के निवेश प्रस्ताव दिए थे।

इस साल जर्मनी के अलावा ऑस्ट्रेलिया, चेक रिपब्लिक, कोरिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड, इटली, जापान और पोलैंड समेत कई देशों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। यूरोपीय देश लक्जमबर्ग पहली बार इस सम्मेलन में हिस्सा ले रहा है। समिट को रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि बंगाल आज देश की प्रगति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। कोलकाता उम्मीदों का शहर है और ममता बनर्जी के नेतृत्व में बंगाल 'वेस्ट बंगाल' से 'बेस्ट बंगाल' बनने की ओर अग्रसर है। समिट में रिलायंस, टाटा, आईटीसी, पेप्सीको, फ्लिपकार्ट समेत देशभर की अग्रणी कंपनियों के मालिक और अधिकारी मौजूद रहे।

Updated : 7 Feb 2019 4:27 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top