Home > राज्य > अन्य > केरल में लॉकडाउन के दौरान मिलेगी शराब, सीएम पिनाराई विजयन ने रखी यह शर्त

केरल में लॉकडाउन के दौरान मिलेगी शराब, सीएम पिनाराई विजयन ने रखी यह शर्त

केरल में लॉकडाउन के दौरान मिलेगी शराब, सीएम पिनाराई विजयन ने रखी यह शर्त
X

केरल/नई दिल्ली। केरल में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के कारण शराब की बिक्री बंद होने से राज्य के विभिन्न हिस्सों से आत्महत्या के मामले सामने आ रहे हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने आबकारी विभाग को डॉक्टरों की पर्ची के बाद लोगों को शराब देने का निर्देश दिया है। आपको बता दें केरल में शराब नहीं मिलने से परेशान होकर रविवार को केरल में दो लोगों की आत्महत्या का मामला सामने आया था।

केरल सरकार ने आबकारी विभाग को ऐसे लोगों को नशामुक्ति केंद्रों में नि:शुल्क उपचार देने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार शराब की ऑनलाइन बिक्री पर भी विचार कर रही है क्योंकि अचानक शराब न मिलने से सामाजिक समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

पुलिस ने बताया कि त्रिसूर जिले के कोडंगलूर के सुनीश (32) ने कथित तौर पर नदी में कूदकर आत्महत्या कर ली। जांच अधिकारी ने कहा, सुनीश भी शराब न मिलने से परेशान हो गया था। शिकायत में कहा गया है कि वह देर रात घर से निकला और नदी में कूद गया। उसका शव त्रिसूर जिले के इरिनजलाकुडा से मिला।

उधर, पुलिस के अनुसार पिछले दो दिनों से शराब नहीं मिलने से परेशान होकर नोफल (34) ने 'आफ्टर शेव' लोशन पी लिया। पुलिस ने बताया कि तबीयत बिगड़ने पर नोफाल को आलप्पुझा जिले के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वल्लिकुन्नम पुलिस ने कहा कि परिवार के बयान के अनुसार एक साल पहले विदेश से लौटने के बाद वह नियमित रूप से शराब पीता था।

केरल की स्वास्थ्य मंत्री के.के.शैलजा ने रविवार को कहा कि राज्य में कोरोनावायरस के 20 नए पॉजिटिव मामले दर्ज किए गए, जिसके बाद राज्य में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 181हो गई है। शैलजा ने एक बयान में कहा, "20 में से 18 मरीज विदेश से आए हैं जिसमें कन्नूर से आठ, कासरगोड से सात और तिरुवनंतपुरम, एनार्कुलम और त्रिशूर से एक-एक हैं। मंत्री ने कहा, "वर्तमान में 1,41,211 लोग निगरानी में रखे गए हैं जिनमें 593 शामिल हैं, जो अस्पतालों में हैं। अब तक 21 लोगों को ठीक किया जा चुका है।"

Updated : 30 March 2020 6:08 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top