Top
Home > राज्य > उत्तर पश्चिम रेलवे का जोधपुर स्टेशन शीर्ष पर, जयपुर दूसरे पर

उत्तर पश्चिम रेलवे का जोधपुर स्टेशन शीर्ष पर, जयपुर दूसरे पर

उत्तर पश्चिम रेलवे का जोधपुर स्टेशन शीर्ष पर, जयपुर दूसरे पर
X

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे के स्वच्छता सर्वे में इस वर्ष जोधपुर रेलवे स्टेशन को शीर्ष स्थान मिला है। दूसरे स्थान पर भी उत्तर पश्चिम रेलवे का जयपुर स्टेशन है। इस सूची में तीसरे स्थान पर तिरुपति है। वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का आनंद विहार इस सूची में पांचवें स्थान पर है।

रेल मंत्री, कोयला, वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को यहां रेल भवन में भारतीय गुणवत्ता परिषद (क्यूसीआई) द्वारा आयोजित स्टेशन स्वच्छता पर एक रिपोर्ट जारी की। स्वच्छता रैंकिंग की थर्ड पार्टी लेखा परीक्षा-सह-सर्वेक्षण की यह तीसरी रिपोर्ट है। इसमें 407 स्टेशन शामिल हैं जिनमें ए-1 श्रेणी में 75 स्टेशन और ए श्रेणी स्टेशनों में 332 स्टेशन शामिल है।

पीयूष गोयल ने कहा कि गत 4 वर्षों में भारतीय रेल ने 'स्वच्छ रेल, स्वच्छ भारत' का जो अभियान चलाया है, स्टेशन परिसर में स्वच्छता हो, उसमें वेटिंग एरिया, प्लेटफॉर्म, ट्रेन, टॉयलेट, पार्किंग इत्यादि में स्वच्छता का कार्य किया, और सुधार को पूरे देश में अपनाया है। उन्होंने कहा कि बड़े रूप में देखें तो सैनिटेशन कवरेज जो 2014 में 38 प्रतिशत था, वो मई 2018 में बढकर 83 प्रतिशत हो गया, लगभग सवा सात करोड़ टॉयलेट 4 वर्षों में बने, यह अपने आप में बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा कि रेलवे यात्रियों के लिए स्वच्छता, समयबद्धता और खानपान की सेवाओं को प्राथमिकता दे रहा है।

शीर्ष स्टेशनों की ए-1 श्रेणी में कुल 75 स्टेशन शामिल हैं। इसमें पहले स्थान पर जोधपुर रेलवे स्टेशन है। पिछले साल विशाखापट्नम के पास यह दर्जा था, इसलिए यह उसके लिए चेतावनी है कि वह बेहतर करे और जोधपुर के लिए भी की वह अपनी स्थिति को बनाए रखे। दूसरे स्थान पर जयपुर है। राजस्थान के यह दोनों स्टेशन पर्यटन की दृष्टि से बेहत महत्वपूर्ण स्टेशन हैं। इस सूची में तीसरे स्थान पर तिरूपति है। इसके बाद चौथे स्थान पर विजयवाड़ा, दिल्ली का आनंद विहार टर्मिनल पांचवें, सिकंदराबाद छठे, बांद्रा सातवें, हैदराबाद आठवें, भुवनेश्वर नौवें और विशाखापट्नम दसवें स्थान पर है।

इसी तरह ए-श्रेणी के कुल 332 स्टेशनों में पहले स्थान पर राजस्थान का ही मारवाड़ स्टेशन है। दूसरे स्थान पर आया फुलेरा स्टेशन भी राजस्थान का ही है। दोनों नॉर्थ वेस्ट रेलवे के स्टेशन हैं। तीसरे स्थान पर तेलंगाना का वारंगल स्टेशन है। चौथे स्थान पर उदयपुर, पांचवें पर जैसलमेर, छठे पर निजामाबाद, सातवें पर बाडमेर, आठवें स्थान पर मंचेरियाल, नौवें स्थान पर मैसूर और दसवें स्थान पर भीलवाड़ा स्टेशन शामिल है।

पिछले साल रैंकिंग में आठवें स्थान का नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे इस साल रैंकिंग में पहले स्थान पर पहुंच गया है। रेल मंत्री ने कहा कि स्वभाविक है कि रेलवे ने इसके लिए कुछ मेहनत और उस पर ध्यान दिया उसी के चलते यह बदलाव देखने को मिला। बहुत बढ़िया प्रदर्शन रहा। इसी प्रकार साउथ सेंट्रल रेलवे जो चौथे रैंक पर था वह दूसरे स्थान पर है। तीसरे स्थान पर ईस्ट कोस्ट रेलवे स्टेशन है।

Updated : 2018-08-14T03:01:40+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top