Top
Home > राज्य > कामाख्या धाम में भीड़ में फंसे सीजेआई गोगोई

कामाख्या धाम में भीड़ में फंसे सीजेआई गोगोई

कामाख्या धाम में भीड़ में फंसे सीजेआई गोगोई
X

गुवाहाटी। भारत के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई बुधवार को मां कामाख्या धाम में पत्नी के साथ पूजा करने पहुंचे थे। लेकिन वे भीड़ के बीच काफी देर तक फंस गए। उन्होंने कामरूप (मेट्रो) उपायुक्त बीरेंद्र मित्तल को बुलाकर भीड़ में समय नष्ट होने को लेकर नाराजगी जताई। ज्ञात हो कि देश की शीर्ष अदालत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई मंगलवार को नई दिल्ली से गुवाहाटी पहुंचे थे। बुधवार को वे महाअष्टमी के अवसर पर मां कामाख्या का दर्शन व पूजा-अर्चना के लिए अपनी पत्नी के साथ नीलांचल पहाड़ पर स्थित मां कामाख्या धाम पहुंचे थे। शारदीय नवरात्र के चलते कामाख्या धाम में अन्य दिनों की तुलना में काफी अधिक भीड़ होती है। कारण अष्टमी के दिन बलि विधान का भी आयोजन किया जाता है।

देश के मुख्य न्यायाधीश के कामाख्या धाम में पहुंचने की जानकारी मिलते ही उनको देखने के लिए काफी भीड़ उमड़ पड़ी। इसके चलते वे भीड़ के बीच में फंस गए। हालांकि जिला व पुलिस प्रशासन की ओर से काफी व्यवस्था की गई थी, लेकिन लोगों की भीड़ में सीजेआई को फंसने से नहीं बचा सकी। इस बात से नाराज मुख्य न्यायाधीश ने कामरूप (मेट्रो) जिला उपायुक्त बीरेंद्र मित्तल को बुलाकर भीड़ में समय बर्बाद होने को लेकर नाराजगी व्यक्त की। ज्ञात हो कि मौके पर मौजूद भीड़ को पुलिस संभालने में व्यर्थ हो गई।

पूजा-अर्चना करने के बाद मुख्य न्यायाधीश दोपहर बाद ऊपरी असम के डिब्रूगढ़ जिला स्थित अपने पैतृक घर के लिए स्पाइस जेट विमान के जरिये रवाना हो गए। सीजेआई के साथ ही मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल भी डिब्रूगढ़ के लिए रवाना हुए। ज्ञात हो कि सोनोवाल का भी गृह नगर डिब्रूगढ़ जिले में ही है। रंजन गोगोई देश के मुख्य न्यायाधीश बनने के बाद पहली बार अपने गृह नगर पहुंचे हैं। डिब्रूगढ़ पहुंचने पर मुख्य न्यायाधीश का भव्य स्वागत किया गया।

Updated : 2018-10-18T01:58:47+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top