Top
Home > राज्य > हिमाचल : जुब्बल सड़क हादसे में जीप सवार सभी 13 लोगों की मौत

हिमाचल : जुब्बल सड़क हादसे में जीप सवार सभी 13 लोगों की मौत

हिमाचल : जुब्बल सड़क हादसे में जीप सवार सभी 13 लोगों की मौत
X

शिमला/स्वदेश वेब डेस्क। शिमला जिले की जुब्बल तहसील में स्नैल के समीप मुंगरा में एक जीप के अनियंत्रित होकर गहरी खाई में लुढ़कने से 13 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में तीन दम्पति और उनके बच्चे भी हैं।

हादसा इतना खतरनाक था कि जीप के परखच्चे उड़ गए तथा इसमें सवार एक भी यात्री जिंदा नहीं बच पाया। 10 लोगों ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया जबकि तीन अन्य की नागरिकों की अस्पताल रोहडू में मृत्यु हुई। इस दर्दनाक दुर्घटना में छह साल की बच्ची की भी मौत हुई है। हादसे में मारे गए 11 लोग सगे-सम्बन्धी थे, जो चिड़गाव और रोहडू के रहने वाले थे। ये सभी महासू देवता के दर्शन के लिए उतराखंड की तरफ जा रहे थे।

पुलिस के मुताबिक सुबह नौ बजकर बीस मिनट के करीब अभागी जीप (एचपी 02-0695) हाटकोटी कैंची से त्यूणी जाते वक्त जुब्बल थाना अंतर्गत स्नेल से तीन किलोमीटर आगे मुंगरा के पास बेकाबू होकर कई मीटर नीचे खाई में जा गिरी। हादसे के वक्त इलाके में जोरदार बारिश हो रही थी। इसके बावजूद बचाव व राहत दलों ने मृतकों व घायलों को खाई से निकालकर अस्पताल पहुंचाया।

पुलिस अधीक्षक ओमाप्ति जमबाल ने बताया कि 10 यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई। इनमें मातवर सिंह (48) पुत्र भजन दास, बसंती देवी (42) पत्नी मातवर सिंह और मनीष (24) पुत्र मातवर सिंह, अत्तर सिंह (44) पुत्र भजन दास, मुम्मा देवी (38) पत्नी अतर सिंह, बिट्टू राम (42) पुत्र नाथू राम के रूप में हुई है और ये सभी चिड़गांव के चैरी गांव के रहने वाले थे। रोहड़ू के धारा गांव की दंपति प्रेम सिंह (38) और पूनम (28) तथा इनकी छह वर्षीय बच्ची रिद्विमा भी काल के ग्रास बने। अन्य मृतकों में धारा गांव निवासी बन्दो देवी (48) पत्नी गोपाल सिंह, नेहर सिंह (32) पुत्र केशु राम, जुब्बल के कुडु निवासी चालक अनिल कुमार (28) और मनोज कुमार (35) शामिल हैं।

एसपी ने बताया कि शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया और मामला दर्ज कर दुर्घटना के कारणों की पड़ताल की जा रही है। हादसे का कारण चालक की लापरवाही मानी जा रही है। घटनास्थल पर ढलान और हल्का मोड़ था, जहां चालक जीप को नियंत्रित नहीं कर पाया और कई पलटी खाते हुए जीप खाई में समा गई।

यह हादसा चिड़गांव और रोहड़ू के तीन परिवारों पर कहर बनकर टूटा। इस दुर्घटना में तीन परिवार खत्म हो गए। चिड़गांव के वृद्व भजन दास के दो जवान बेटों व बहुओं और एक पोते को काल ने निवाला बना लिया। इस तरह भजन दास के परिवार के पांच सदस्यों की एक साथ मौत हुई। रोहडू के धार गांव में रहने वाले पांच लोग भी भगवान को प्यारे हो गए। इनमें एक दम्पति व उनकी छह साल की बच्ची है।

Updated : 2018-09-23T01:10:02+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top