Top
Home > राज्य > स्वच्छ भारत का संदेश देती गांधी की वेशभूषा में गणेशजी की प्रतिमा

स्वच्छ भारत का संदेश देती गांधी की वेशभूषा में गणेशजी की प्रतिमा

स्वच्छ भारत का संदेश देती गांधी की वेशभूषा में गणेशजी की प्रतिमा
X

नागपुर। भाद्रपद माह की चतुर्थी से चतुर्दशी तक चलने वाला गणेशोत्सव सामाजिक संदेश देने वाला उत्सव है। इस वर्ष नागपुर के एक गणेश मंडल ने महात्मा गांधी की वेशभूषा में गणेशजी की प्रतिमा बनवाई है। यह प्रतिमा हाथ में झाड़ू लिए प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान का संदेश देती है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मुख्यालय सें महज 800 मीटर की दूरी पर स्थित चितार ओली मध्य भारत का सबसे बड़ा गणेश प्रतिमाओं का बाजार है। यहां नागपुर के साथ-साथ पूरे मध्य भारत से लोग मूर्तियां खरीदने आते हैं। गणेशोत्सव में यहां खरीददारों की भीड़ के चलते पैदल चलना भी असंभव हो जाता है। इस भीड़ भरे माहौल में स्वच्छ भारत का संदेश देने वाली गणेशजी की प्रतिमा यहां आने वाले सभी लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करती नजर आई। गणेशोत्सव के चलते सुबह पांच बजे से यहां मूर्ति खरीदने के लिए भक्तों की भारी भीड़ दिखाई दी। इस भीड़ में सभी का ध्यान गांधीजी की वेशभूषा में बनाई गई गणेशजी की मूर्ति पर पड़ा, जो अपने आप में अद्भुत थी। गांधीजी की वेशभूषा में बनाई गई इस मूर्ति में गणेशजी की सूंढ़ लगी है तथा मूर्ति के हाथ में स्वच्छता अभियान का प्रतीक झाड़ू भी है।

नागपुर के गणपती मंडल की मांग पर मूर्तिकार सूर्यवंशी ने इस प्रतिमा को साकार किया है। इस बारे में सूर्यवंशी ने बताया कि वह अपने ग्राहकों की मांग के अनुसार मूर्तियां बनाते हैं। लगातार चार पीढ़ियों से वह गणेशजी की मूर्तियां बना रहे हैं। गणेश मंडल की मांग पर उन्होंने महात्मा गांधी के व्यक्तित्व से जुड़ी गणेशजी की मूर्ति बनाई है।

सूर्यवंशी ने बताया कि देश में महात्मा गांधीजी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसे नेता हैं जो देश की प्राचीन परंपराओं को बरकरार रखते हुए समाज को परिवर्तन की ओर ले जा रहे हैं| इसलिए गणेशजी की मूर्ति गांधीजी के वेष में बनाई है तथा प्रधानमंत्री द्वारा चलाए गए स्वच्छता अभियान के प्रतिक स्वरूप झाड़ू मूर्ति के हाथ में दिया गया है। मूर्ति को देखकर लोग गणेश वंदना के साथ-साथ महात्मा गांधी और स्वच्छ भारत अभियान को याद करेंगे और अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह करने को प्रवृत्त होंगे।

Updated : 2018-09-13T15:33:10+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top