Top
Home > राज्य > हेलमेट पहनकर बस चला रहे हैं चालक, हिंसक हुआ भाजपा का बंगाल बंद, बसों में तोड़फोड़, ट्रेन सेवा बाधित

हेलमेट पहनकर बस चला रहे हैं चालक, हिंसक हुआ भाजपा का बंगाल बंद, बसों में तोड़फोड़, ट्रेन सेवा बाधित

हेलमेट पहनकर बस चला रहे हैं चालक, हिंसक हुआ भाजपा का बंगाल बंद, बसों में तोड़फोड़, ट्रेन सेवा बाधित
X

कोलकाता/स्वदेश वेब डेस्क। उत्तर दिनाजपुर जिले के इस्लामपुर में छात्रों पर पुलिस फायरिंग के खिलाफ भाजपा द्वारा आहूत 12 घंटे के हड़ताल के दौरान संभावित तोड़फोड़ के मद्देनजर बस चालक हेलमेट पहनकर वाहन चला रहे हैं। बुधवार को इस बारे में ट्रैफिक पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि राजधानी कोलकाता समेत हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना के विस्तृत इलाके में बसों के चालकों को हेलमेट पहनकर वाहन चलाने का निर्देश दिया गया है। सुरक्षा के मद्देनजर यह जरूरी‌ है।

बुधवार सुबह से कोलकाता के विस्तृत इलाके में बस चला रहे चालकों ने हेलमेट पहन रखा था। सरकारी और गैरसरकारी दोनों बसों के चालकों ने सुरक्षा संबंधी इंतजाम करने के बाद ही बस चलाना शुरू किया था। उत्तर दिनाजपुर जिले के इस्लामपुर में पुलिस फायरिंग में दो छात्रों की मौत के खिलाफ भाजपा द्वारा आहूत 12 घंटे के बंगाल बंद का असर शुरू हो गया है। सुबह 6:00 बजे से ही बंद के समर्थन में भाजपा के प्रदर्शनकारियों ने कई विभागों में ट्रेन सेवा रोक‌ दी है। कई इलाकों में बंद हिंसक हो गया है| बंद समर्थकों ने बसों के शीशे तोड़ दिए| हालांकि पुलिस की पर्याप्त व्यवस्था की गई है|

पूर्व रेलवे की ओर से मिली जानकारी के अनुसार हावड़ा-बर्दवान मेन लाइन, सियालदह-बारासात, बनगांव सेक्शन, डायमंड हार्बर सेक्शन, बैंडेल-कटवा लाइन और कॉर्ड लाइन में बड़े पैमाने पर ट्रेन सेवा बाधित की गई है। प्रदर्शनकारियों ने हुगली जिले के कोन्ननगर, दक्षिण 24 परगना के लक्ष्मीकांतपुर, सियालदह सेक्शन के बारासात, बनगांव आदि स्टेशनों पर विरोध प्रदर्शन करते हुए ट्रेनों को रोक दिया। इसके अलावा कई जिलों में बसों में भी तोड़फोड़ की गई है। पुरुलिया जिले में सुबह 7:00 बजे के करीब ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर कई बसों को रोक दिया। सुबह 9:00 बजे तक राजधानी कोलकाता के अलावा उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, हुगली, पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर, बांकुड़ा जिले में बड़े पैमाने पर बंद समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया है, जिसकी वजह से दुकानें और बाजार नहीं खुले हैं।

Updated : 2018-09-27T22:26:49+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top