Top
Home > खेल > क्रिकेट > भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराया, सीरीज 1-1 से बराबर

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराया, सीरीज 1-1 से बराबर

राजकोट। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे इंटरनेशनल सीरीज खेली जा रही है। सीरीज का दूसरा मैच राजकोट के सौराष्ट्र क्रिकेट असोसिएशन स्टेडियम में खेला जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीत लिया है और कप्तान एरन फिंच ने एक बार फिर टीम इंडिया को बल्लेबाजी का न्योता दिया है।

जसप्रीत बुमराह ने एडम जाम्पा को विकेटकीपर केएल राहुल के हाथों कैच आउट कराकर मैच भारत की झोली में डाल दिया है। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हार का सामना करना पड़ा है। दो मैचों के बाद सीरीज 1-1 से बराबर है।

इससे पहले ऑस्ट्रलिया को पहला झटका मोहम्मद शमी ने दिया। उन्होंने डेविड वार्नर को महज 15 रनों के निजी स्कोर पर मनीष पांडे के हाथों कैच लपका कर पवेलियन की राह दिखाई। खबर लिखे जाने तक ऑस्ट्रेलिया ने 33.3 ओवर में 188/3 रन बना लिए हैं। इस समय मैदान पर स्टीव स्मिथ (79) और एलेक्स केरी (14) रन बनाकर मैदान पर मौजूद हैं।

इससे पहले मुंबई में मिली बुरी हार से आहत भारतीय बल्लेबाजों ने शुक्रवार को यहां सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले जा रहे दूसरे वनडे मैच में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए आस्ट्रेलिया के सामने 341 रनों का लक्ष्य रखा है। भारत के तीन बल्लेबाजों- शिखर धवन (96), लोकेश राहुल (80) और विराट कोहली (78) ने अर्धशतक जमाए। इन्हीं के दम पर भारत 50 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 340 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। भारतीय बल्लेबाजों को हालांकि इस बीच विकेटों पर दौड़ने के कारण पांच रन पेनाल्टी दी गई है और इसी कारण आस्ट्रेलिया अपनी लक्ष्य का पीछा करने पांच रन लेकर उतरेगी।

आस्ट्रेलिया ने एक बार फिर टॉस जीता और फिर भारत को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। इस बार हालांकि मुंबई की कहानी नहीं दोहराई गई और भारतीय बल्लेबाजों ने आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों पर जमकर रन बनाए। भारत का शीर्ष क्रम फिर मजबूती से रन करने में सफल रहा।

धवन और रोहित शर्मा ने पहले विकेट के लिए 81 रन जोड़े। दोनों खिलाड़ी आराम से बल्लेबाजी कर रहे थे और जोखिम नहीं ले रहे थे। लेग स्पिनर एडम जाम्पा की गेंद 14वें ओवर में रोहित केपैड पर पड़ी और अंपायर ने उंगली उठा दी। रोहित ने 44 गेंदों पर 42 रन बनाए। रोहित आउट होने से पहले एक रिकार्ड अपने नाम करने में सफल रहे। वह सबसे तेजी से 7000 रन बनाने वाले सलामी बल्लेबाज बन गए हैं।

इन्हीं जाम्पा ने एक बार फिर कोहली को अपना शिकार बनाया और शतक पूरा नहीं करने दिया। कोहली ने जाम्पा पर कुछ अच्छे शॉट्स लगाए। वह इसी तरह की एक और कोशिश में सीमा रेखा के पास मिशेल स्टार्क और एश्टन अगर की जुगलबंदी के चलते जाम्पा को अपना विकेट दे बैठे। कोहली ने शानदार शॉट खेला जिसे एश्टन ने पकड़ लिया, लेकिन वे बाउंड्री से टकराने वाले थे तभी उन्होंने गेंद पास में ही खड़े स्टार्क को दे दी और स्टार्क ने कैच लपकने में कोई गलती नहीं की।

कोहली ने 76 गेंदों पर छह चौकों की मदद से शानदार पारी खेली। कोहली के जाने से पहले धवन भी पवेलियन लौट चुके थे। धवन को केन रिचर्डसन ने शतक पूरा नहीं करने दिया। धवन का कैच भी स्टार्क ने लपका। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज का विकेट 184 के कुल स्कोर पर गिरा। उन्होंने 90 गेंदों की पारी में 13 चौके और एक छक्का लगाया। श्रेयस अय्यर एक बार फिर विफल रहे। उन्हें सात रनों के निजी स्कोर पर जाम्पा ने बोल्ड किया। अय्यर के बाद कोहली लौटे और उनके चार रन बाद मनीष पांडे (2) भी आउट हो गए।

भारत के लिए अच्छी बात यह रही कि लोकेश राहुल अंत तक टिके रहे। उन्होंने स्कोरबोर्ड को चालू रखा और तेजी से रन बनाए। राहुल ने 52 गेंदों पर छह चौके और तीन छक्कों की मदद से अर्धशतक जमा भारत को विशाल स्कोर दिया। उनके साथ रवींद्र जडेजा 16 गेंदों पर 20 रन बनाकर नाबाद रहे। राहुल सबसे तेजी से 1000 रन बनाने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज भी बन गए हैं।

आस्ट्रेलिया के लिए जाम्पा ने तीन और केन रिचर्डसन ने तो विकेट लिए। मिशेल स्टार्क 10 ओवरों में 78 रन देने के बाद भी विकेट नहीं ले सके।

Updated : 2020-01-17T21:40:08+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top