Home > धर्म > सर्वार्थसिद्धि योग में कल मनेगी कजरी तीज, जानिए पूजन विधि

सर्वार्थसिद्धि योग में कल मनेगी कजरी तीज, जानिए पूजन विधि

सर्वार्थसिद्धि योग में कल मनेगी कजरी तीज, जानिए पूजन विधि
X

ग्वालियर, न.सं.। कजरी तीज का त्योहार भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि 14 अगस्त रविवार को मनाया जाएगा। इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग भी रहेगा। ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि तृतीया तिथि 13 अगस्त की मध्य रात्रि 12:53 से शुरू होकर 14 अगस्त की रात 10:35 बजे तक रहेगी। इसी दिन सर्वार्थसिद्धि योग भी बन रहा है जो 14 को रात्रि 09:56 से 15 को सुबह 05:49 बजे तक रहेगा।

ज्योतिषाचार्य ने बताया कि कजरी तीज, भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि को मनाने की परंपरा है। कजरी तीज के दिन सुहागिन महिलाएं सोलह श्रंृगार करती हैं और पूरे दिन निर्जला उपवास रखती हैं। हालांकि कुवांरी लड़कियों के लिए भी इस व्रत को बहुत फलदायी माना गया है। ऐसी मान्यताएं हैं कि शादीशुदा या कुंवारी लड़कियां अगर सच्चे मन से कजरी तीज का उपवास करें तो उन्हें सौभाग्यवती का वरदान प्राप्त होता है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की विधिवत पूजा से पति को दीर्घायु और घर में सुख-संपन्नता का वरदान प्राप्त होता है।

कजरी तीज की पूजन विधि:-

सुहागिन महिलाएं पति की लंबी उम्र और कुवांरी लड़कियां अच्छा वर पाने के लिए कजरी तीज का व्रत रख सकती हैं। कजरी तीज के दिन सुबह स्नान करके व्रत का संकल्प लें। फिर नीमड़ी माता को जल, रोली और चावल चढ़ाएं। इसके बाद नीमड़ी माता को मेंहदी और रोली लगाएं। माता को काजल और वस्त्र अर्पित करें और फल-फू चढ़ाएं। पूजा में इस्तेमाल होने वाले कलश पर रोली से टीका लगाकर कलावा बांधें। पूजा स्थल पर तेल या घी का दीपक जलाएं और मां पार्वती और भगवान शिव के मंत्रों का जाप करें। पूजा खत्म होने के बाद किसी सौभाग्यवती स्त्री को सुहाग की वस्तुएं दान करें और उनका आशीर्वाद लें। रात में चंद्रमा के दर्शन और अर्घ्य देने के बाद ही व्रत खोलें।

Updated : 13 Aug 2022 6:02 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top