Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > केजरीवाल पर पांच करोड़ में टिकट बेचने का आरोप

केजरीवाल पर पांच करोड़ में टिकट बेचने का आरोप

आप के दो दर्जन पदाधिकारी भाजपा में शामिल बिहार और उप्र के लोगों को घुसपैठिया समझते हैं केजरीवाल: जावड़ेकर

केजरीवाल पर पांच करोड़ में टिकट बेचने का आरोप

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी की सूची जारी होते ही विरोध के स्वर तेज हो गए हैं। सीलमपुर के विधायक हाजी इशराक खान ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर पांच करोड़ में टिकट बेचने का आरोप लगाते हुए पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। इशराक कांग्रेस के उम्मीदवार को अपना समर्थन देंगे। यही मिजाज द्वारका के आदर्श शास्त्री का बताया जा रहा है, जहां उनकी जगह महाबल मिश्रा के बेटे विनय मिश्रा को टिकट मिलने से शास्त्री खुन्नस खा बैठै हैं। इस कड़ी में कुछ और दिग्गज विधायकों का नाम जुड़ने जा रहा है। ये विधायक अगर पाला बदल या विद्रोह कर देते हैं तो आप पार्टी की चुनाव से पूर्व पूरी की पूरी तस्वीर ही बदल जाएगी। द्वारका में आदर्श शास्त्री आप पार्टी के लोकप्रिय विधायक माने जाते हैं, जिन्होंने कांग्रेस के महाबल मिश्रा जैसे जनाधार वाले नेता को पटकनी दी थी। अब केजरीवाल ने महाबल के बेटे को ही उनकी जगह उतार दिया है। महाबल दक्षिणी दिल्ली में भाजपा के रमेश बिधूड़ी से लोकसभा चुनाव हार गए थे। महाबल का कांग्रेस से पत्ता साफ होते देख उन्होंने बेटे को आप पार्टी से चुनाव में उतार दिया ताकि खोई हुई जमीन हासिल कर सकें। देखना यह है कि आदर्श शास्त्री का धैर्य जवाब देता है या नहीं। अगर नहीं ंतो इस सीट पर भितरघात की संभावना है। तिमार सीट पर भी विरोध उभरने लगा है।

इधर, भाजपा प्रदेश मुख्यालय का अजब नजारा था। बुधवार को केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की मौजूदगी में आप पार्टी के दो दर्जन पदाधिकारियों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। आप पार्टी के सचिव करण सिंह, दिल्ली जल बोर्ड के सदस्य अमित श्रीवास्तव, पार्टी कार्यालय समन्वयक पंकज तोमर सहित दो दर्जन कार्यकर्ता वहां उत्पीड़न का शिकार हो रहे थे। वे आप पार्टी क्यों छोड़ रहे हैं? इसके जबाव में इनका कहना है कि केजरीवाल अन्ना आंदोलन से उभरे नए नेता थे, जिन्होंने देश की राजनीति बदलने की बात की थी। लेकिन, सत्ता मिलते ही वे खुद बदल गए। फिर कांग्रेस और आप में अब अंतर ही क्या रह गया? इससे आजिज होकर वे भाजपा में आए हैं।

केजरीवाल बिहार और उप्र के लोगों को घुसपैठिया समझते हैं: जावड़ेकर

आप पार्टी से भाजपा में आए दर्जनों कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पहले देश बदला, अब दिल्ली बदलो। इस भ्रष्ट और निकम्मी सरकार को हटाने का घर-घर में अलख जगा दो। केजरीवाल पर तीखे प्रहार करते हुए जावड़ेकर ने कहा कि वे दिल्ली के लोगों को नागरिकता संशोधन कानून पर गुमराह नहीं कर पाएंगे। दिल्ली की जनता जाग रही है, घृणा और नफरत फैलाने वालों को दिल्ली में जगह नहीं। केजरीवाल ने अन्ना हजारे को धोखा देकर उनके ध्येय, मूल्यों व पथ से हट कर खुद पथभ्रष्ट हो गए। अब केंद्र सरकार के राष्ट्रवादी निर्णयों को लेकर लोगों में भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं। इस झूठ के साथ कि नागरिकता कानून से लोगों की नागरिकता छिन जाएगी। वे तो बिहार और उत्तर प्रदेश के लोगों को ही घुसपैठिया बता रहे हैं। यहां तक कि बिहार मूल के मनोज तिवारी को ही दिल्ली से बाहर करने की बात करते हैं। क्या केजरीवाल यह नहीं जानते कि बिहार और उत्तर प्रदेश के लोग अपनी मेहनत से दिल्ली को सजाने व संवारने में लगे हैं?

पाकिस्तान में 23 प्रतिशत हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई जैसे अल्पसंख्यकों की आबादी थी, जो घटकर 5-6 प्रतिशत रह गई है। ये लोग वहां अत्याचार सहन नहीं कर पाए तो भारत के शरणागत हो गए। वर्षाें बीत गए लेकिन उन्हें मूल अधिकारों से ही वंचित रहना पड़ा। जावड़ेकर ने पूछा क्या ऐसे लोगों को नागरिकता देना कोई गलत काम है? नहीं। नागरिकता कानून पर स्पष्टता से कहा कि यह कानून नागरिकता देने वाला है, छीनने वाला नहीं। फिर ऐसे व्यक्ति का क्या विश्वास किया जाए जो बच्चों की कसम खाने के बावजूद कांग्रेस से हाथ मिला लेता है। जावड़ेकर ने दावा किया कि आप पार्टी में भगदड़ की अभी शरूआत है, दो एक दिन में सफाई हो जाएगी।

Updated : 2020-01-17T16:31:21+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top