Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > कोहरे की चादर में लिपटा उत्तर भारत, सड़क, रेल और हवाई यातायात पर बुरा असर

कोहरे की चादर में लिपटा उत्तर भारत, सड़क, रेल और हवाई यातायात पर बुरा असर

कोहरे की चादर में लिपटा उत्तर भारत, सड़क, रेल और हवाई यातायात पर बुरा असर

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर के निवासियों ने सोमवार की सुबह जब आंखें खोलीं तो इलाके को कोहरे की चादर में लिपटा पाया। हर ओर दृश्यता बहुत कम थी, क्योंकि सघन कोहरे ने इस क्षेत्र को अपनी गिरफ्त में ले रखा था। दृश्यता कम होने पर कई उड़ानों को रद्द और कई को डायवर्ट करना पड़ा। कम से कम 20 ट्रेनें देरी से चल रही हैं, जो दो से पांच घंटे तक लेट हैं। विमानन कम्पनियों ने यात्रियों को सलाह दी है कि वे अद्यतन उड़ान की जानकारी के लिए संबंधित एयरलाइन के संपर्क में रहें।

शनिवार को दिल्ली एनसीआर सहित कई इलाकों में ठंड और घने कोहरे ने कोहराम मचा दिया है। आज सुबह दिल्ली में पालम में दृश्यता सिर्फ 50 मीटर और सफदरजंग में 100 मीटर दर्ज की गई है। गाजियाबाद में भी दृश्यता अत्यंत कम है। दृश्यता कम होने का असर सड़कों पर भी दिखा जहां वाहनों की रफ्तार बेहद धीमी दिखी। पूर्वी दिल्ली के पुश्ता रोड और गाजियाबाद-बजीराबाद रोड पर घने कोहरे के चलते वाहनों की रफ्तार बेहद धीमी रही।

पश्चिमी विक्षोभ के कारण हाल में ही हुई बारिश की वजह से दिल्ली एनसीआर में काफी ठंड बढ़ी है। इस ठंड में देश के जवान गणतंत्र दिवस की तैयारियों में जुटे हैं। शनिवार सुबह दिल्ली का न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। आज दिन भर आसमान में घना कोहरा छाये रहने की उम्मीद है। अगले दो दिन भी इसी तरह से कोहरा बना रहेगा। न्यूनतम तापमान में और गिरावट आ सकती है। जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के पर्वतीय इलाकों में हो रही बर्फबारी की वजह से दिल्ली सहित मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है।

शनिवार सुबह दिल्ली एनसीआर में कोहरा होने के कारण वायु गुणवत्ता 'खराब' श्रेणी में है। केंद्र द्वारा संचालित सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग (सफर) के अनुसार दिल्ली के लोदी रोड पर आज सुबह वायु गुणवत्ता 179, मंदिर मार्ग इलाके में 189, पंजाबी बाग में 162, यमुनापार मदर डेयरी इलाके में 164 के स्तर पर पाई गई। नोएडा के सेक्टर 62 में 184 और इंदिरापुरम (गाजियाबाद) में वायु गुणवत्ता का स्तर 186 पाया गया। सफर ने लोगों को सुझाव दिया है कि इस तरह के मौसम में खराब स्वास्थ्य वाले लोग थका देने वाला काम करने से बचें और सतर्क रहें।

उधर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर में गुरुवार शाम से शुरू हुआ बारिश और बर्फबारी का दौर शुक्रवार को भी जारी रहा। उत्तराखंड में मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार मौसम के मिजाज में शनिवार को भी कोई बदलाव नहीं होगा। ऐसे में उत्तराखंड में अलर्ट जारी किया है।

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में कई इलाकों में शुक्रवार को भी बूंदाबांदी का दौर जारी रहा और हाड़ कंपाने वाली शीतलहर ने लोगों को घरों में दुबकने को विवश कर दिया । मध्य उत्तर प्रदेश, बुंदेलखंड और पूर्वाचल के जिलों में तापमान में गिरावट आई। वाराणसी, फैजाबाद और कानपुर के मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक आगामी दिनों में हल्के से मध्यम बादल छाए रहेंगे।

Updated : 18 Jan 2020 6:04 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top