Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > चुनाव में टिकट व जीत के लिए मंत्र जाप का ठेका

चुनाव में टिकट व जीत के लिए मंत्र जाप का ठेका

चुनाव में टिकट व जीत के लिए मंत्र जाप का ठेका

नई दिल्ली। जिस तरह कोई व्यक्ति अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए सब जगह मत्था टेकता है, इन दिनों वही हालत प्रमुख राजनीतिक दलों का टिकट पाने की कोशिश कर रहे राजनीतिकों की हो गई है। बड़े नेताओं, उनके घनिष्ठ जनों के यहां चक्कर लगाने के साथ मंदिरों में मत्था टेकते हुए मनौती मांगने से लगायत देवी-देवता को प्रसन्न करने के लिए पूजा-पाठ व मंत्र जाप तक के ठेके दिए जा रहे हैं। कई पंडितों का कहना है कि कई यजमान सत्ताधारी पार्टी का टिकट पाने के लिए कई-कई करोड़ मंत्र जाप करा रहे हैं। इसके लिए कई पंडितों की जरूरत पड़ रही है।

काशी के पंडित राम प्रसाद का कहना है कि इसके लिए संस्कृत विद्यालयों, महाविद्यालयों से बटुकों, छात्रों को लाया जा रहा है, लेकिन वार्षिक व बोर्ड परीक्षा सिर पर होने के कारण संस्कृत के छात्र भी कम ही मिल रहे हैं। जो मिल रहे हैं वे प्रतिदिन छह घंटे जप के लिए 700 से 1500 रुपये तक मांग रहे हैं। कई तो एक घंटे जप के लिए 300 रुपये मांग रहे हैं। उस दौरान पीने के लिए केसर मिला दूध व शहद अलग से।

वाराणसी के वरिष्ठ पत्रकार वशिष्ठ नारायण का कहना है कि काशी में कुछ बड़े पंडित इसके लिए बहुत से राजनीतिकों से जप कराने का ठेका ले रखे हैं। कई राजनीतिकों के शुभचिंतक सेठ या उद्योगपति यह जप करा रहे हैं। इसके लिए जिस राजनीतिक के नाम से जप कराया जा रहा है, उसका छुआ हुआ अक्षत (चावल ) मंगा लिया जा रहा है। उसका गोत्र, पिता का नाम, घर का पता पूछ लिया जा रहा है। इस सबकी जरूरत संकल्प, मंत्र जाप, पूजा-पाठ, पूर्णाहुति में पड़ती है। इस बारे में काशी के एक प्रसिद्ध पंडित का कहना है कि ऐसा काशी, विंध्याचल, मथुरा, तिरुपति, दतिया, बेंगलूरू, चेन्न्ई, मीनाक्षी मंदिर आदि जगह हो रहा है।

Updated : 24 Feb 2019 3:23 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top