Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > पीरागढ़ी में फैक्ट्री में आग के बाद इमारत गिरी, केजरीवाल बोले - फंसे लोगों के लिए प्रार्थना करता हूं

पीरागढ़ी में फैक्ट्री में आग के बाद इमारत गिरी, केजरीवाल बोले - फंसे लोगों के लिए प्रार्थना करता हूं

पीरागढ़ी में फैक्ट्री में आग के बाद इमारत गिरी, केजरीवाल बोले - फंसे लोगों के लिए प्रार्थना करता हूं

नई दिल्ली। राजधानी के पीरागढ़ी इलाके में बैटरी बनाने वाली एक फैक्ट्री में गुरुवार तड़के आग लगने से हड़कंप मच गया है। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे फायर कर्मी आग बुझाने में जुट गए। दमकल की 35 गाड़ियां पहुंच चुकी हैं और बचाव कार्य जारी है। इस दौरान खबर आ रही है कि फंसे हुए लोगों को निकालने की कोशिश में कुछ तीन दमकलकर्मी भी घायल हुए हैं। अभी भी कई लोगों के फैक्ट्री में फंसे होने की आशंका जताई जा रही है।

पीरागढ़ी में फैक्ट्री में आग की घटना पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर दुख जताया है। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया- यह सुनकर हम दुखी हैं। मैं हालात को काफी करीब से मॉनिटर कर रहा हूं। दमकलकर्मी आग पर काबू पाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। जो भी इस इमारत में फंसे हैं, उनकी सुरक्षा के लिए कामना करते हैं।'

दिल्ली फायर चीफ अतुल गर्ग ने बताया कि आग लगने के बाद जब राहत व बचाव कार्य चल रहा था तभी इस दौरान फैक्ट्री में जोरदार धमाका हुआ, जिसके बाद इमारत इसका एक हिस्सा भी गिर गया। बताया जा रहा है कि इसमें कई लोग फंस गए हैं जिनमें दमकलकर्मी भी शामिल हैं। फायर विभाग के मुताबिक आग लगने की जानकारी फायर कंट्रोल रूम को सुबह 4:30 बजे करीब मिली।

एनडीआरएफ की टीम को भी रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए मौके पर बुलाया गया है। बैटरी फैक्ट्री के आसपास की इमारतों को एहतियातन खाली करवा दिया गया है। बताया जा रहा है कि बैटरी फैक्ट्री में कैमिकल रखे होने के कारण आग तेजी से फैल गई और पूरी इमारत इसकी चपेट में आ गई। बताया जा रहा है कि एक धमाके के बाद फैक्ट्री में आग लगी है।

पिछले कुछ दिनों में हाल के दिनों दिल्ली में कई आगजनी की घटनाएं घटी हैं। 26 दिसंबर को ईस्ट दिल्ली के कृष्णा नगर के एक कबाड़ के गोदाम में आग लग गई। दमकलकर्मियों की सूझबूझ और तत्परता की वजह से 40 लोगों को सकुशल रेस्कयू कर लिया गया। 23 दिसंबर को किराड़ी इलाके में एक कपड़े के गोदाम में आग लग गई थी. इस हादसे में 9 लोगों की मौत हो गई थी। इससे पहले रानी झांसी रोड स्थित अनाज मंडी इलाके में एक चार मंजिला इमारत में लग गई थी। इस हादसे में 43 लोगों की मौत हो गई जबकि 60 लोग घायल हो गए थे। यह दिल्ली के सबसे बड़े अग्निकांडों में एक था।

Updated : 2 Jan 2020 6:55 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top