Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > विधानसभा में बोले अरविंद केजरीवाल - दिल्ली के आम लोग हिंसा में नहीं हैं शामिल

विधानसभा में बोले अरविंद केजरीवाल - दिल्ली के आम लोग हिंसा में नहीं हैं शामिल

विधानसभा में बोले अरविंद केजरीवाल - दिल्ली के आम लोग हिंसा में नहीं हैं शामिल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार (26 फरवरी) को विधानसभा में कहा कि दिल्ली के आम लोग हिंसा में शामिल नहीं हैं, इस हिंसा में बाहर के लोग, कुछ राजनीतिज्ञ, असामाजिक तत्व शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर, मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने घोषणा की कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा में मारे गए हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल के परिवार को दिल्ली सरकार एक करोड़ रुपए का मुआवजा देगी।

केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में कहा, ''दिल्ली सरकार की नीति के अनुसार हम हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल के परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवजा देंगे।" मुख्यमंत्री ने मंगलवार (25 फरवरी) हेड कॉन्स्टेबल के परिवार से मुलाकात की थी।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल ने दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद बुधवार (26 फरवरी) को कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हालात नियंत्रण में है। साथ ही उन्होंने बुधवार दोपहर कुछ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा भी किया। उत्तर पूर्वी दिल्ली में तीन दिन पहले शुरू हुई सांप्रदायिक हिंसा में अब तक कम से कम 22 लोगों की मौत हुई है और 200 से अधिक लोग घायल हुए हैं। जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, यमुना विहार, भजनपुरा, चांद बाग, शिव विहार मुख्य रूप से दंगों से प्रभावित हुए हैं।

डोभाल को हिंसा को रोकने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उन्होंने सीलमपुर में पुलिस उपायुक्त (उत्तर पूर्व) के कार्यालय में दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक की। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मनदीप सिंह रंधावा, नव नियुक्त विशेष पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव, विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) सतीश गोलचा, उत्तर पूर्वी दिल्ली के डीसीपी वेद प्रकाश आर्य भी बैठक में शामिल थे। यह बैठक 30 मिनट से अधिक समय तक चली।

Updated : 26 Feb 2020 1:52 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top