Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > निजामुद्दीन के मरकज से मिले कोरोना के 200 संदिग्ध, 100 विदेशी नागरिक

निजामुद्दीन के मरकज से मिले कोरोना के 200 संदिग्ध, 100 विदेशी नागरिक

निजामुद्दीन के मरकज से मिले कोरोना के 200 संदिग्ध, 100 विदेशी नागरिक

नई दिल्ली। कोरोना के खिलाफ केन्द्र के साथ ही देशभर की सरकारें सतर्क है और लोगों को लगातार हिदायतें दी जा रही है कि वे लॉकडाउन के दौरान इसका उल्लंघन कर घरों से न निकलें। इस बीच, दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके से 200 लोगों को अस्पताल में कोरोना जांच के लिए ले जाया गया है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरों के बीच दक्षिण पूर्वी दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी जमात के मरकज से दस से अधिक देशों के नागरिकों के समेत 200 लोगों को यहां के अलग अलग अस्पतालों में जांच के लिए ले जाया गया है।

निजामुद्दीन के एक स्थानीय निवासी ने बताया कि मरकज में करीब 600 लोग थे जिनमें से फिलहाल 200 लोगों को कोरोना संक्रमण जांच के लिए अलग अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया गया है और मरकज के आसपास के इलाके को पूरी तरह सील कर दिया गया है।

जिन लोगों को जांच के लिए ले जाया गया है, उनमें बांग्लादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब, इंग्लैंड और चीन के करीब 100 विदेशी नागरिक शामिल है। रविवार को तमिलनाडु के एक 64 वषीर्य शख्स की मौत हो गई थी जो मरकज में रुका हुआ था। मृतक की हालांकि अभी जांच रिपोर्ट नहीं आई है। इस घटना के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी।

पुलिस पूरे इलाके की ड्रोन से निगरानी कर रही है। पुलिस लगातार पेट्रोलिंग भी कर रही है, जिससे यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई बाहर न घूम रहा हो। मरकज से कुछ ही दूर पर प्रसिद्ध सूफी निजामुद्दीन औलिया की मजार है जहां पर बड़ी संख्या में जायरीन यहां आते हैं लेकिन इन दिनों दरगाह पूरी तरह बंद है।

गौरतलब है कि निजामुद्दीन में स्थित मरकज इस्लाम की शिक्षा का प्रचार प्रसार करने के विश्व का सबसे बड़ा केंद्र है जहां कई देशों के लोग आते है।

Updated : 30 March 2020 1:03 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top