Home > देश > मप्र के पास है शिवराज जैसा हीरा : गडकरी

मप्र के पास है शिवराज जैसा हीरा : गडकरी

सड़कों और कृषि क्षेत्र को मिली करोड़ों की सौगात, मप्र आपका आभारी है : चौहान

मप्र के पास है शिवराज जैसा हीरा : गडकरी
X

गुना। केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को सड़़क और कृषि के क्षेत्रों के लिए कई हजार करोड़ की सौगात दी। यह सौगात सिर्फ गुना जिले को नहीं मिली है, बल्कि पूरे प्रदेश को मिली है। केन्द्रीय मंत्री ने राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-3 (नया क्रमांक 46) की तीन परियोजनाओं को जनता को समर्पित किया। वहीं तीन हजार 583 करोड़ रुपए की लागत की राष्ट्रीय राजमार्ग की पांच परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी। इसके साथ ही उन्होंने 43 करोड़ से अधिक की फसल बीमा राशि का सांकेतिक वितरण भी किया। कार्यक्रम में विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनाओं के तहत 43 हजार 882 हितग्राहियों को लाभ पत्र प्रदाय किए गए। सोमवार को यहां आयोजित विकास पर्व एवं किसान महासम्मेलन में करीब 40-50 हजार लोगों का जनसमूह उमड़ा। अपार जनसमूह को देख केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी अभिभूत हो गए। केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि मध्य प्रदेश सौभाग्यशाली है कि उसके पास शिवराज सिंह चौहान जैसा हीरा है। उन्होंने कहा कि विकास के लिए जैसी ललक शिवराज सिंह में है, वैसी ललक किसी अन्य में नहीं देखी। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विकास में सहयोग के लिए केन्द्रीय मंत्री को धन्यवाद देते हुए उनका प्रदेश की जनता की तरफ से आभार माना। इस मौके पर विशेष रूप से मौजूद उच्च शिक्षा एवं जिले के प्रभारी मंत्री जयभान सिंह पवैया ने कहा कि बीमारू प्रदेश सौंपकर जाने वाले कांग्रेसियों को आज सबसे ज्यादा तकलीफ उस समय होती है, जब कोई विकास का कार्य होता है। वहीं लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह ने सड़कों के क्षेत्र में किए जा रहे विकास कार्यों को सिलसिलेवार रखा।

नए हाई वे में प्रदेश की 250 किमी सड़क शामिल

केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि दिल्ली और मुंबई के बीच एक नया हाई वे भी शुरू किया जा रहा है इस हाई वे पर एक लाख करोड़ की राशि व्यय होगी । यह हाई वे राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र राज्यों से निकलेगा। जिसमें 250 किमी मध्यप्रदेश की सड़क भी शामिल है। इस का कार्य दिसम्बर से पहले शुरू किया जाएगा। यह हाई वे भी मध्यप्रदेश के विकास में सहायक होगा। उन्होंने कहा कि केन-बेतवा लिंक नदी परियोजना के पानी के बटवारे के संबंध में उत्तर प्रदेश एवं मध्यप्रदेश के साथ बैठकर निराकरण किया जाएगा। इस परियोजना से बुंदेलखंड का विकास होगा एवं सिंचाई की सुविधा भी बढ़ेगी। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि ग्वालियर क्षेत्र के चम्बल एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य भी इसी वर्ष शीघ्र शुरू होगा। इसके लिए जमीन अधिग्रहण का कार्य भी शुरू हो गया है। इस एक्सप्रेस-वे के बन जाने से जहां अंचल के लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे, वहीं उद्योग-धंधे भी विकसित हो सकेंगे। इसके साथ ही आवागमन के लिए भी एक नया मार्ग मिलेगा।

सड़कों से बदलेगी प्रदेश की तस्वीर : चौहान

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश के विकास के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। इसी कडी में आज 17 हजार करोड़ की लागत की सड़कों का शिलान्यास किया गया है। पिछले वर्षों में केन्द्र सरकार द्वारा प्रदेश में सड़कों के निर्माण के लिए 13 हजार पांच सौ करोड़ से अधिक की राशि प्रदाय की गई है। मध्यप्रदेश बीमारू राज्य से निकलकर अब विकसित राज्यों के श्रेणी में आ गया है और अब हम सबको मिलकर इसे देश में नंबर वन बनाना है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में आज जो सड़कों का शिलान्यास हुआ है उससे प्रदेश की तस्वीर बदलेगी । उन्होंने कहा कि जहां आज 17 हजार 981 करोड़ की बनने वाली सड़कों का शिलान्यास हुआ है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 43 करोड़ 90 लाख बीमा की राशि एक साथ किसानों के खातों में जमा की गई है। इसके साथ ही भावांतर भुगतान योजना के तहत किसानों के खातों में 35 हजार करोड़ की राशि जमा की गई है।

मप्र नंबर एक पर पहुंचा : केंद्रीय मंत्री

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने भाषण में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की खूब प्रशंसा की। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि 13 वर्षों में प्रदेश में काफी बदलाव आया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश की तस्वीर बदली है। मध्य प्रदेश आज कृषि, अधोसंरचना, उद्योग आदि क्षेत्रों में भी देश में पहले नम्बर के राज्य के रूप में गिना जा रहा है। यह सब मुख्यमंत्री श्री चौहान की सोच एवं मेहनत का ही परिणाम है। उन्होंने कहा कि देश के सभी राज्यों में राष्ट्रीय राजमार्गों पर तेजी से कार्य हुआ है। देश में 100 नए राष्ट्रीय राजमार्ग पर कार्य शुरू किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिन राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण किया गया है उन मार्गों पर 125 किमी की रफ्तार से वाहन चल रहे हैं।

चंबल एक्सप्रेस-वे को महीने भर में मंजूरी

ग्वालियर। केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि प्रदेश में 6 हजार करोड़ रुपए लागत के 300 किमी लंबे चंबल एक्सप्रेस-वे के संबंध में मुख्यमंत्री से चर्चा हो चुकी है और इसे महीने भर में स्वीकृति मिल जाएगी। इसमें बीहड़ का क्षेत्र भी शामिल होगा। केन्द्रीय मंत्री के मुताबिक इसमें दोनों ओर लॉजिस्टिक पार्क, औद्योगिक केंद्र, कृषि उत्पाद केंद्र, खाद्य प्रसंस्करण केंद्र, स्मार्ट सिटी, शिक्षा केंद्र एवं मनोरंजन केंद्र प्रस्तावित हैं। उन्होंने कहा ग्वालियर-झांसी राष्ट्रीय राजमार्ग इस साल दिसम्बर तक पूरा हो जाएगा। सोमवार को यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुए केन्द्रीय भूतल परिवहन और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि मप्र में सिंचाई योजनाओं के लिए केंद्र सरकार ने 56 हजार 813 करोड़ रुपए की स्वीकृति दी है। इस राशि से 3253.98 हजार हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई हो सकेगी। उन्होंने कहा इसके साथ ही दिल्ली से मुंबई के बीच नया एक्सप्रेस-वे बनाया जाएगा। इसमें मप्र के रतलाम, झाबुआ और मंदसौर जिलों को शामिल किया गया है। गडकरी ने बताया कि दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे के लिए 44 हजार करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं। इससे मप्र के इन तीनों जिलों का विकास हो सकेगा। इस एक्सप्रेस-वे में मुख्य रूप से देश के पिछड़े क्षेत्रों को ही शामिल किया गया है। इस पर 80 लाख रुपए प्रति हैक्टेयर लागत आएगी। साथ ही दिल्ली-मुंबई के बीच 120 किमी दूरी कम भी हो जाएगी। उन्होंने कहा इस पर दिसंबर तक काम शुरु हो जाएगा। गडकरी ने बताया कि भारतमाला परियोजना के तहत 3 हजार करोड़ रुपए की लागत से 150 किमी लंबा इंदौर-भोपाल ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे निर्माण भी प्रस्तावित है। नमामि गंगे योजना पर चर्चा करते हुए गडकरी ने कहा कि इसमेें उत्तराखंड, हरियाणा, उप्र, बिहार, झारखंड और पं. बंगाल को शामिल किया गया है। इसमें 300 परियोजनाएं शामिल होंगी।

बिना किसी मदद से रखे मंत्रालय के आंकड़े

नितिन गडकरी एक ऐसे राजनेता ,एक ऐसे उद्यमशील व्यक्तित्व के रूप में जाने जाते हैं, जिन्हें अपने काम से बेहद प्यार है। सुबह दिल्ली में भारी व्यस्तता के बाद भोपाल फिर भोपाल से गुना एवं गुना से फिर भोपाल और देर शाम आज वह ग्वालियर पहुंचे। तय यह हुआ था कि ग्वालियर के संपादकों से चाय पर अनौपचारिक चर्चा होगी, सहज संवाद होगा। हुआ भी पर साथ ही श्री गडकरी ने अपने मंत्रालय के कामकाज की जानकारी, योजनावार आंकड़ों के साथ जब बिना किसी कागज की मदद से देना शुरू की तो सभी हैरत में थे।

सिंधिया ने जताई थी असमर्थता

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को गुना मे आयोजितकार्यक्रम में क्षेत्रीय सांसद का नाम आमंत्रण पत्र पर नहीं होने पर कहा कि ऐसा नहीं होना चाहिए। गडकरी ने कहा अधिकारियों ने उन्हें बताया कि सिंधिया ने कार्यक्रम में शामिल होने से असमर्थता जताई थी, इसलिए कार्ड पर उनका नाम नहीं छापा गया। हालांकि विज्ञापनों में उनका नाम था।




Updated : 2018-07-24T16:02:27+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top