Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > आबकारी आरक्षक की पत्नी और बेटी ने खाया जहर, आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज

आबकारी आरक्षक की पत्नी और बेटी ने खाया जहर, आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज

छिंदवाड़ा में पुलिस ने आबकारी आरक्षक के खिलाफ किया है।

आबकारी आरक्षक की पत्नी और बेटी ने खाया जहर, आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज
X

छिंदवाड़ा। पत्नी और बेटी की मौत के जिम्मेदार आबकारी आरक्षक पर पुलिस ने शिकंजा कस लिया है। दरअसल, बीते सोमवार को एक सनसनीखेज मामला सामने आया था। यहां आबकारी आरक्षक की पत्नी और बेटी की जहर से मौत हो गई थी। पुलिस जांच में सामने आया कि महिला ने पति की प्रताड़ना से तंग आकर बेटी को जहर दिया और स्वयं भी इसका सेवन कर लिया था, जिसकी वजह से दोनों की मौत हो गई थी। जांच के बाद पुलिस ने प्रताड़ना देने वाले आरोपी आबकारी आरक्षक के खिलाफ अपराध दर्ज किया है।

टीआई प्रतीक्षा मार्को ने बताया कि आबकारी आरक्षक राजकुमार सरेयाम अक्सर शराब के नशे में पत्नी सीमा सरेयाम से विवाद किया करता था। घटना के दिन भी राजकुमार ने पत्नी से विवाद किया था। इसी प्रताड़ना से तंग आकर सीमा ने सात साल की बेटी नैनसी को जहर खिलाया और स्वयं भी जहर का सेवन कर लिया था। इलाज के दौरान मां-बेटी की मौत हो गई थी। मर्ग जांच और मायके पक्ष के बयान के आधार पर आबकारी आरक्षक राजकुमार के खिलाफ धारा 498 ए और 306 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

सागर में भी हुआ था विवाद...

पुलिस की माने तो परिजनों ने आरोप लगाते हुए बताया है कि आरक्षक लंबे समय से उनकी बिटिया को परेशान कर रहा था। जब हम सागर में अपनी सेवा दे रहा थे, उस दौरान भी उनकी बेटी की बेरहमी से पिटाई किया था, जिसके चलते उसने उस समय भी आत्महत्या की कोशिश की थी। हालांकि, उस समय उसकी जान बच गई थी। लेकिन इस बार वह इतनी तंग आ गई थी कि उसने जहर का सहारा लिया।

आठ साल पहले हुई थी शादी...

बता दें कि आरक्षक की आठ साल पहले शादी हुई थी, जिसके बाद से लगातार वह अपनी पत्नी को प्रताड़ित कर रहा था, ऐसा आरोप उसके परिजनों ने लगाया है। फिलहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वहीं, मृतिका के मायके पक्ष वाले परिवार अभी भी सदमे में हैं।

Updated : 14 Jan 2023 12:16 PM GMT
Tags:    
Next Story
Top