Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > इंदौर में दो मंजिला मकान ढहा, मलबे में दबने से सात घायल

इंदौर में दो मंजिला मकान ढहा, मलबे में दबने से सात घायल

-चार की हालत गंभीर, नगर निगम ने शुरू किया बचाव व राहत कार्य

इंदौर में दो मंजिला मकान ढहा, मलबे में दबने से सात घायल
X

इंदौर। मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में परदेशीपुरा थाना क्षेत्र में शनिवार को तड़के एक दो मंजिला जर्जर मकान अचानक भरभराकर ढह गया। इस हादसे में मकान में रहने वाले एक ही परिवार के सात लोग मलबे में दब गए। स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस और नगर निगम का अमला मौके पर पहुंचा और राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर मलबे में दबे लोगों को निकालकर अस्पताल पहुंचाया। सात घायलों में से चार लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

जानकारी के मुताबिक इंदौर के परदेशी के लाल गली डमरू उस्ताद चौराहा क्षेत्र में शनिवार को अलसुबह करीब चार बजे नाले पर बना एक दो मंजिला मकान भरभराकर गिर गया। मलबा गिरने की आवाज सुनकर आसपास के लोगों की नींद टूट गई और वे दौड़कर घटनास्थल पर पहुंचे। मौके पर पहुंचकर देखा तो पूरा मकान ही धराशायी हो गया था। उन्होंने मलबे में दबे लोगों को निकालने का प्रयास किया और इसी बीच नगर निगम और पुलिस को सूचना दी। पुलिस और नगर निगम का अमला तत्काल मौके पर पहुंच गया और स्थानीय लोगों की मदद से मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालकर एमवाई अस्पताल पहुंचाया। इस हादसे में मकान में रहने वाले एक ही परिवार के सात लोग घायल हुए हैं, जिनमें चार बच्चे भी शामिल हैं। घायलों का एमवाई अस्पताल में उपचार जारी है। बताया जा रहा है कि घायलों में चार की हालत गंभीर है।

जो मकान ढहा, वह मिस्त्री का काम करने वाले नौशाद करीम का था। नाले में पिलर पर यह मकान बनाया गया था। बरसात के चलते नाले में पानी बढ़ा और मिट्टी का कटाव होने से आरसीसी के पिलर धंस गए और मकान गिर गया। उस समय नौशाद का परिवार सो रहा था। इस कारण घर में सो रहे सभी लोग मलबे में दब गए। मकान ढहने से जोरदार धमाका हुआ और आवाज सुनकर पड़ोसी जाग गए। साथ ही गिरे मकान के पास पहुंचे और मलबे में दबे लोगों को निकालना शुरू किया। पड़ोस में रहने वाले इशाक खान ने निगम कंट्रोल रूम, डायल 100 और एम्बुलेंस 108 को सूचना दी। निगम अमले के पहुंचने से पहले पड़ोसियों ने मकान के मलबे में दबे लोगों को निकालकर एमवाई अस्पताल भेजना शुरू कर दिया था। निगम अमला भी दस मिनट में मौके पर पहुंच गया और तत्काल रेस्क्यू शुरू कर मलबा हटाया और घायलों को अस्पताल पहुंचाया। फिलहाल, निगम का अमला मलबा हटाने में जुटा है और पुलिस ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार इस हादसे में नाजरिन (17), ममताशा (15), अलीशा (10) रईसा, फेमिदा पत्नी नौशाद (36) और नौशाद पुत्र करीम (40) सहित कुल सात लोग घायल हुए हैं। दो घायलों को मामूली चोटें आई थीं, इसलिए प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई है। निगम के जोन क्रमांक 17 और वार्ड 23 में आने वाली लाल गली में जहां नाले किनारे बना मकान गिरा है, उसके आसपास और भी कई मकान नाले पर बने हुए हैं। इनमें कुछ पक्के और कुछ कच्चे हैं। नगर निगम के क्षेत्रीय जोनल अधिकारी नरेन्द्र कुरील ने बताया कि लाल गली नाले पर वर्षों पुराने मकान बने हुए हैं, उन्हें हटने के लिए पहले ही नोटिस दे चुके हैं। इसमें घटना-दुर्घटना होने पर स्वयं की जिम्मेदारी होने का लिखा गया है। नाले में जलस्तर बढ़ने पर मिट्टी का कटाव होने से मकान गिर गया। घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है। इसके साथ ही सभी को फिर से नोटिस दिए जा रहे हैं। इन्हें हटाने की कार्रवाई भी जल्द होगी।

Updated : 21 Sep 2019 6:57 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top