Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > हनीट्रेप के खुलासे से चर्चा में आये जीतू सोनी के घर और होटलों पर चला नगर निगम का बुल्डोजर

हनीट्रेप के खुलासे से चर्चा में आये जीतू सोनी के घर और होटलों पर चला नगर निगम का बुल्डोजर

-अधिकारियों की उपस्थिति में भारी पुलिस बल की मौजूदगी में की कार्रवाई

हनीट्रेप के खुलासे से चर्चा में आये जीतू सोनी के घर और होटलों पर चला नगर निगम का बुल्डोजर

इंदौर। इंदौर में माय होटल, होटल बेस्ट वेस्टर्न और पब के साथ अखबार मालिक और संचालक जीतू सोनी के अवैध निर्माण पर गुरुवार अल सुबह पांच बजे से नगर निगम का बुल्डोजर चलना शुरू हो गया। साउथ तुकोगंज स्थित होटल बेस्ट वेस्टर्न के अवैध हिस्सों को हटाने का काम शुरू हुआ। इसके साथ ही गीता भवन चौराहा स्थित होटल माय होम, कनाड़िया रोड स्थित सोनी के बंगले, और न्यू पलासिया स्थित ओ2 कैफे के अवैध हिस्सों पर भी कार्रवाई होनी है।

जिला प्रशासन, पुलिस और नगर निगम के अफसरों ने चारों जगह मुआयना करने व दस्तावेज जुटाने के साथ ही कार्रवाई की रूपरेखा भी तैयार कर ली थी। जीतू सोनी के अवैध कारोबार के खिलाफ शुरू हुई जांच-पड़ताल की कार्रवाई बुधवार देर रात तक जारी रही। एक ओर जहां कोर्ट में सुनवाई चल रही थी, उसी दौरान जीतू की चारों स्थानों की संपत्ति की नपती शुरू हो गई थी।

बुधवार को निगम अधिकारी चारों जगह पहुंचे थे और देखा कि किस इमारत में कितना हिस्सा तोड़ा जाना है। तोड़फोड़ की कार्रवाई तभी तय हो गई थी जब निगम और जिला प्रशासन ने एक-एक करके सोनी की चारों संपत्ति को नाप लिया था। निगमायुक्त आशीष सिंह ने चारों इमारतों पर कार्रवाई के दौरान एक-एक एडिशनल कमिश्नर को उपस्थित रहने के निर्देश दिए थे।

कार्रवाई के लिए निगम ने 12 पोकलेन मशीन, 250 निगमकर्मी, 250 मजदूरों को मिलाकर 13 टीमें बनाई गई। इसके अलावा वाइब्रेटर, गैस कटर, ट्रैक्टर और डंपर आदि की व्यवस्था जुटाने का काम बुधवार रात तक होता रहा।

होटल माय होम दो बेसमेंट में पार्किंग बनानी थी, लेकिन मौके पर दो हॉल बने हैं जिनकी दीवारें तोड़ी गईं। होटल के चारों तरफ मार्जिनल ओपन स्पेस (एमओएस) में अपेक्षाकृत ज्यादा अवैध निर्माण तो नहीं हैं, लेकिन एक हैंगिंग को तोड़ा गया। इसके अलावा चारों तरफ छोटे-छोटे अवैध निर्माण हैं। होटल के भीतर कुछ जगह खुला क्षेत्र छोड़ा जाना था जो नहीं छोड़ा गया। साउथ तुकोगंज स्थित बेस्ट वेस्टर्न होटल की टॉप फ्लोर पूरी तरह अवैध था। इसके अलावा बेसमेंट में पार्किंग की जगह हॉल और कमरे बनाए गए। वहां भी खुला क्षेत्र नहीं छोड़ा गया है जिसके लिए निगम को छतें तोड़नी पड़ीं। इसके अलावा साइड एमओएस के भी अवैध निर्माण हटाए गए।

कनाड़िया रोड स्थित सोनी के बंगले पर काफी अवैध निर्माण मिला। वहां 2100 वर्गफीट की मंजूरी है, लेकिन बंगला सात से आठ हजार वर्गफीट जमीन पर बना था। इसके अलावा आसपास भी अवैध कब्जा है। इन सभी अवैध निर्माण और कब्जों को हटाया गया। न्यू पलासिया स्थित ओ2 कैफे में साइड और फ्रंट में अवैध निर्माण हैं जिन्हें तोड़ा गया। तीसरी मंजिल का भी अवैध हिस्सा तोड़ा गया।

Updated : 2019-12-05T15:00:12+05:30
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top