Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > हनीट्रैप मामले में जीतू सोनी के अखबार कार्यालय पर चला बुल्डोजर, पुलिस की मौजूदगी में निगम ने की कार्रवाई

हनीट्रैप मामले में जीतू सोनी के अखबार कार्यालय पर चला बुल्डोजर, पुलिस की मौजूदगी में निगम ने की कार्रवाई

हनीट्रैप मामले में जीतू सोनी के अखबार कार्यालय पर चला बुल्डोजर, पुलिस की मौजूदगी में निगम ने की कार्रवाई

इंदौर। मध्यप्रदेश के हनीट्रैप मामले में अपने अखबार के माध्यम से खुलासे करने वाले कारोबारी जीतू सोनी पर जिला प्रशासन और पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। जिला प्रशासन और इंदौर नगर निगम ने बुधवार को संयुक्त कार्रवाई करते हुए भारी पुलिसबल की मौजूदगी में जीतू सोनी के संझा लोकस्वामी अखबार के दफ्तर पर कार्रवाई की गई और अखबार के भवन को ध्वस्त कर दिया गया। प्रशासन और नगर निगम के अधिकारी बुधवार को अलसुबह प्रेस कॉम्प्लेक्स पहुंच गए थे। वहां प्लॉट नंबर 23 पर स्थित अखबार के भवन पर कार्रवाई की गई।

नगर निगम ने जेसीबी और पोकलेन मशीन की मदद से इस भवन को जमींदोज किया गया। यह कार्रवाई बुधवार को करीब 6.45 बजे शुरू हुई। कार्रवाई को अंजाम देने के लिए सभी अधिकारी-कर्मचारी सुबह 6 बजे ही मौके पर पहुंच गए थे। निगम का दावा है कि इस अखबार का कार्यालय वाला भवन बिना नक्शा स्वीकृति के बनाया गया था। इसके साथ ही जिस प्लॉट पर यह भवन बना था, उस प्लॉट के मामले में भी पुलिस द्वारा रवींद्र पंडित की शिकायत पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पिछले कुछ दिनों से प्रशासन के चलाए जा रहे अभियान में इस भवन पर भी कार्रवाई की गई है। अभी इस अभियान में ही प्रशासन ने पहले तो इस भवन को सील कर दिया था। बुधवार को इस भवन को नेस्तानाबूत कर दिया गया।

जब यह कार्रवाई की जा रही थी, तब बड़ी संख्या में अधिकारी मौके पर थे। यह सभी अधिकारी भवन के बाहर ही सडक़ किनारे कुर्सी लगाकर लाइन से बैठे हुए थे। मौके पर एहतियात के तौर पर भारी पुलिस बल भी तैनात किया गया था। कदाचित यह पहला मौका है, जब किसी अखबार के भवन को इस तरह गिराया गया है।

इस कार्रवाई में तीन पोकलेन मशीन लगी। इस दौरान पानी का पाइप फटने से एक मशीन को हटा लिया गया। तोडफ़ोड़ के दौरान पोकलेन का पंजा मालवीय नगर के मकान पर लगा, जिससे उसकी गैलरी की दीवार गिर गई। यहां दिगपाल नाम के व्यक्ति रहते हैं और उनके साथ अन्य सात-आठ परिवार रहते हैं। घटना के बाद सभी सुरक्षित हैं। उधर पुलिस ने लोकस्वामी परिसर में खड़ी दो गाड़ियों को भी जब्त कर लिया है। इसके पहले भी जीतू सोनी के माय होम होटल, बेस्ट वेस्टर्न होटल, ओटू कैफे और दो बंगलों पर नगर निगम ने अवैध निर्माण ढहाने की कार्रवाई की थी।

पुलिस ने जीतू सोनी पर मंगलवार को देर शाम ही तीन और प्रकरण दर्ज किए गए थे। तुकोगंज थाने में आईडीए ने आवंटित प्लॉट पर अवैध कब्जे का प्रकरण दर्ज कराया, जबकि इसी थाने में धोखाधड़ी के दो अन्य प्रकरण सोनी के खिलाफ दर्ज कराए गए। इस मामले मे अब तक सोनी के खिलाफ 57 प्रकरण दर्ज हो चुके हैं। आईडीए के आवंटित प्लॉट पर अवैध कब्जे के मामले में पुलिस ने जीतू सोनी और रवींद्र निगम के खिलाफ केस दर्ज किया है।

नोटिस भी जारी किए थे

प्रेस कॉम्प्लेक्स में आईडीए ने वर्ष 1987 में दैनिक नवीन इंदौर को प्लॉट नंबर 23 आवंटित किया था, जिसका क्षेत्रफल 1105 वर्गमीटर है। प्राधिकरण ने 1988 में लीज डीड तैयार कर जारी कर दी। आवंटी रवींद्र पंडित ने आईडीए को आवेदन दिया कि दस्तावेज में जो हस्ताक्षर हैं, वे उनके नहीं हैं। रवींद्र ने तब अफसरों से आग्रह किया था कि भविष्य में प्लॉट को लेकर पत्र व्यवहार उनके नाम से ही हो और भवन बनाने का प्रमाण-पत्र भी उन्हें ही दिया जाए। बाद में भवन किराए पर दे दिया गया। आईडीए ने इस पर आपत्ति लेने हुए निगम को नोटिस भी जारी किए थे और कहा गया कि प्राधिकरण का आवंटित भवन किराए पर नहीं दिया जा सकता।

उल्लेखनीय है कि जीतू सोनी पर मानव तस्करी सहित अन्य अपराधों में 36 से अधिक प्रकरण दर्ज हैं और वह अभी फरार है। पुलिस ने उस पर तीस हजार का इनाम भी घोषित किया है। बताया जा रहा है कि उसकी तलाश में पुलिस मुम्बई और कोलकाता में भी लगातार दबिश दे रही है। वहीं, जीतू सोनी का बेटा अमित पुलिस की गिरफ्त में है और उसे रिमांड पर लेकर लगातार पूछताछ की जा रही है।

Updated : 11 Dec 2019 7:30 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top