Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > परामर्श शुल्क के साथ दवा भी हमारी, जांच भी हमारी

परामर्श शुल्क के साथ दवा भी हमारी, जांच भी हमारी

दबड़ेनुमा जगह पर होती है थाईराइड की जांच, सडक़ पर वाहनों से लगता है जाम

परामर्श शुल्क के साथ दवा भी हमारी, जांच भी हमारी
X

ग्वालियर । शहर में कुछ चिकित्सक पूरी तरह व्यावसायिक होते जा रहे हैं। हालत यह है कि चिकित्सक रोगी से परामर्श शुल्क के रूप में मोटी फीस लेने के बाद भी उसकी जेब टटोलने से बाज नहीं आ रहे हैं। कुछ चिकित्सकों ने तो अपने चिकित्सालय में ही नियमोंं के विपरीत पैथोलॉजी व मेडिकल स्टोर भी खोल लिए हैं। अगर मरीज कहीं दूसरी जगह जांच करा भी ले तो चिकित्सक उसे मान्य नहीं करते हैं। इसी तरह चिकित्सक द्वारा लिखी गई दवा भी उनके ही मेडिकल स्टोर पर मिलती है। यह नजारा शहर में कई स्थानों पर देखा जा सकता है।

शहर के जिंसी नाला नम्बर-2 में स्थित थाईराइड व डायबिटीज के विशेषज्ञ माने जाने वाले डॉ पंकज जैन के चिकित्सालय में यह खेल खुलेआम चल रहा है। इनके यहांं खुली पैथोलॉजी लैब पूरी तरह से नियमोंं को ताक में रखकर चलाई जा रही है। लैब के लिए पर्याप्त स्थान तक नहीं है। हालत यह है कि जहां बैठाकर मरीजों के रक्त के नमूने लिए जाते हैं वहीं बगल में कचरेदान व पीकदान भी रखे हुए हैं। डॉ. जैन परामर्श शुल्क के नाम पर मरीजों से तीन सौ रुपए लेते हैं। खास बात यह भी है कि डॉ. जैन द्वारा मरीज के लिए लिखी गई दवाइयां केवल उनके अस्पताल के मेडिकल स्टोर पर ही मिलती हैं।

सूत्रों की मानें यहांं खुली पैथोलॉजी व मेडिकल स्टोर डॉ. जैन की छत्र छाया मेंं ही चल रहे हैं। जिस स्थान पर डॉ. जैन का क्लीनिक और पैथोलॉजी संचालित होती है वहां मरीजों के बैठने के लिए पर्याप्त स्थान तक नहीं है। अस्पताल के बाहर पार्किंग का स्थान नहीं होने से यहां आने वाले मरीजोंं को अपने वाहन सड़क पर खड़े करना पड़ते हैं। इस कारण इस मुख्य मार्ग पर कई बार जाम तक लग जाता है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियोंं को भी मुख्य मार्ग पर कचरेदान के पास चल रही पैथोलाजी नजर नहीं आ रही है। संचालक द्वारा पैथोलॉजी से निकलने वाले कचरे को खुले में डालने से बीमीरियां फैलने का खतरा हो गया है। इससे आसपास के लोग भी परेशान हैं। इस मार्ग पर संचालित अन्य निजी अस्पतालोंं का भी यही हाल है। लगता है कि स्वास्थ्य विभाग को इस बात का इंतजार है कि कोई शिकायत करे तो वह कार्रवाई करने की औपचारिकता निभाएंं।

Updated : 2018-08-12T22:51:56+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top