Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > मोहर्रम : हथियारों का खुले आम प्रदर्शन, पुलिस बनी मूकदर्शक

मोहर्रम : हथियारों का खुले आम प्रदर्शन, पुलिस बनी मूकदर्शक

X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। धारदार हथियारों का प्रदर्शन करना अपराध की श्रेणी में आता है। कानून में भी स्पष्ट है कि सार्वजानिक स्थलों पर हथियारों का प्रदर्शन नहीं किया जा सकता लेकिन जीवाजी गंज में पिछले दिनों ताजिया ले जाते हुए खुलेआम हथियार लहराए जा रहे हैं और पुलिस मूक दर्शक बनी बैठी है।

इस समय मुस्लिम समुदाय का मोहर्रम पर्व चल रहा है जगह जगह ताजिये रखने के लिए जुलूस के रूप में लाये जा रहे हैं लेकिन इसमें ढोल ताशे के साथ तलवारें भी लहराई जा रही हैं। विशेष बात ये है कि पिछले दिनों शांति समिति की बैठक में त्योहारों को देखते हुए आम सहमति बनी थी कि कोई भी समुदाय हथियारों का प्रदर्शन नहीं करेगा। गणपति उत्सव में तो लोगों ने शांति के साथ गणपति की स्थापना कर ली लेकिन ताजिये की स्थापना के दौरान जिला प्रशासन के आदेश और आम सहमति की खुले आम धज्जियाँ उड़ाईं जा रहीं है और प्रशासन मौन बैठा है। उम्मीद है प्रशासन भविष्य में ऐसे प्रदर्शन पर रोक लगाएगा और निष्पक्ष तरीके से नियमों का पालन कराएगा ।

Updated : 2018-09-15T20:29:22+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top