Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > कोहरे के जाल में फंसी शताब्दी व गतिमान, 4 घंटे लेट आई महाकौशल एक्सप्रेस

कोहरे के जाल में फंसी शताब्दी व गतिमान, 4 घंटे लेट आई महाकौशल एक्सप्रेस

कोहरे के जाल में फंसी शताब्दी व गतिमान, 4 घंटे लेट आई महाकौशल एक्सप्रेस
X

ट्रेने लेट होने पर प्लेटफार्म पर ठंड में ठिठुरते रहे यात्री

ग्वालियर,न.सं.। कोहरे के चलते पंजाब, दिल्ली, की ओर से आने वाली सभी ट्रेने अपने निर्धारित समय से 5 से 7 घंटे की देरी से चल रही है। वहीं कोहरे की संभावना को देखते हुए रेलवे ने पहले ही कुछ ट्रेनों को निरस्त कर दिया है। लेकिन उसके बाद भी ट्रेनों का संचालन ठीक से नहीं हो पा रहा है। सिर्फ लंबी दूरी की ट्रेने नहीं बल्कि ग्वालियर से आगरा जाने वाली शटल को भी रेलवे ने फरवरी तक के लिए रद्द कर दिया है। इस ट्रेन के रद्द होने से दैनिक यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। रेलवे के अधिकारियों की माने तो इस सीजन में अधिकांश वीआईपी ट्रेनों का संचालन प्राथमिकता पर रहता है। कोहरे के चलते दर्जनों ट्रेनों का संचालन निरस्त किया जाता है जिससे ट्रैक पर दौड़ रही ट्रेनों को समय से चलाया जा सके और यात्रियों को लेट लतीफी का सामना ना करना पड़े। लेकिन ट्रेनों के निरस्त होने के बावजूद कोहरे के सीजन में रोजाना ट्रेनें लेट हो रही है।

बुधवार को नई दिल्ली से ग्वालियर की ओर आने वाली मालवा एक्सप्रेस 50 मिनट, शताब्दी एक्सप्रेस 2 घंटे 21 मिनट, अहमदाबाद एक्सप्रेस 1 घंटे 30 मिनट, छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस 1 घंटे 43 मिनट, पंजाब मेल 2 घंटे 40 मिनट, गतिमना एक्सप्रेस 1 घंटे 37 मिनट, एपी एसी एकसप्रेस 1 घंटे 48 मिनट, ताज एक्सप्रेस 1 घंटे 32 मिनट, मंगला एक्सप्रेस 33 मिनट, केरला एक्सप्रेस 34 मिनट, सचखंड एक्सप्रेस 2 घंटे 36 मिनट, श्रीधाम एक्सप्रेस 2 घंटे 10 मिनट की देरी से ग्वालियर पहंची। बॉक्स भोपाल से यह ट्रेने आई लेट बुधवार को भोपाल से जीटी एक्सप्रेस 46 मिनट, कर्नाटक एक्सप्रेस 2 घंटे 22 मिनट, श्रीधाम एक्सप्रेस 2 घंटे 57 मिनट, महाकौशल एक्सप्रेस 4 घंटे 12 मिनट, सचखंड एक्सप्रेस 2 घंटे 56 मिनट, मंगला एक्सप्रेस 2 घंटे 28 मिनट, केरला एक्सप्रेस 2 घंटे 23 मिनट की देरी से ग्वालियर पहुंची। इसके चलते रेलवे स्टेशन पर यात्री खासे परेशान रहे और बार बार ट्रेनों की लोकेशन पूछते रहे। बॉक्स सर्दी बढ़ी, यात्री बेहाल सर्दी के बढ़ते ट्रेनों की लेटलतीफी बढऩा शुरू हो गई है। स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ बढ़ा दी है। ठंड में लोगों को रात खुले में बितानी पड़ रही है। कुछ यात्री परिसर में आग जलाकर समय काटते रहे। ग्वालियर रेलवे स्टेशन देश के प्रमुख स्टेशनों में शुमार है। यात्रियों को चारों दिशाओं की ओर यहां से ट्रेनें सुगमता से मिल जाती हैं। प्रतिदिन ग्वालियर से बीना, भोपाल और इटारसी की ओर 50, आगरा व दिल्ली की ओर 60 से अधिक गाडिय़ां उपलब्ध हैं। दरअसल, आम दिनों में ट्रेनों का संचालन सामान्य बना रहने से भीड़ स्टेशन पर दिखाई नहीं पड़ती है। सर्दी बढऩे से यात्रियों के सफर मुसीबत भरा बनना शुरू हो गया है। रात में ठंड से बचने के लिए रिटायरिंग रूम, वेटिंग रूम, पैसेंजर हॉल, बुकिंग हॉल यात्रियों से भर जाते हैं। इन स्थानों की क्षमता कम होने से सैकड़ों यात्रियों को प्लेटफार्म व रेलवे परिसर में खुले में बैठकर गुजारना पड़ रहा है।

Updated : 2019-12-26T05:30:41+05:30

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top