Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > मैं किसी सरकार के विरोध में नहीं, लेकिन समाज को बांटने वाले कानूनों का पक्षधर नहीं हूँ : देवकीनंदन ठाकुर

मैं किसी सरकार के विरोध में नहीं, लेकिन समाज को बांटने वाले कानूनों का पक्षधर नहीं हूँ : देवकीनंदन ठाकुर

राजपूत करणी सेना ने आयोजित किया स्वाभिमान सम्मेलन, राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह ने मंच से नेताओं को सुनाई खरी खरी

मैं किसी सरकार के विरोध में नहीं, लेकिन समाज को बांटने वाले कानूनों का पक्षधर नहीं हूँ  : देवकीनंदन ठाकुर
X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। एससी एसटी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट के संशोधन को सरकार द्वारा स्वीकार नहीं किये जाने के विरोध में सड़कों पर उतरे सवर्ण समाज ने आज ग्वालियर में श्रीराजपूत करणी सेना के नेतृत्व में स्वाभिमान सम्मेलन का आयोजन किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रसिद्द कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर थे। जबकि राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह कार्यक्रम में विशेष रूप से उपस्थित थे।

कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने अपने सम्बोधन में नेताओं को टारगेट किया। उन्होंने एक कहानी सुनाते हुए कहा कि एक पिता की चार संतानों को पड़ोसी ने आपस में लड़ा दिया। थोड़े दिन बाद सबसे छोटा बेटा अलग थलग पड़ गया। उन्होंने कहा कि पड़ोसी और कोई नहीं है देश के नेता हैं जो समाज को जाति के नाम पर बांटने के काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोग समझते हैं कि मैं दलितों के विरोध में हूँ, जबकि ऐसा नहीं हैं। मेरे लिए सब बराबर हैं। उन्होंने कहा कि देश को बांटने के लिए सभी पार्टियां बराबर हैं। इसलिए अब समय आ गया कि देश को बांटने वाले और जाति के नाम पर वोट मांगने वालों को नगर से बाहर करना होगा। उन्होंने मंच से चेतावनी दी कि आने वाले दो महीने में यदि केंद्र सरकार ने इस कानून में बदलाव नहीं किया तो हम इस देश को परफेक्ट सोल्यूशन देंगे। उन्होंने मंच से नारा दिया कि जो राष्ट्र हित की बात करेगा वही देश पर राज करेगा। देवकीनंदन ठाकुर ने कहा कि मैं किसी भी सरकार के विरोध में नहीं हूं लेकिन जो देश को बांटने के कानून बन रहे हैं उसके विरोध में हूं । उन्होंने कहा कि यदि इसे रोका नहीं गया तो जो काम अंग्रेज नहीं कर सके वो हमारे देश के नेता कुछ वोटों की खातिर कर देंगे जो हम नहीं होने देंगे।

सम्मेलन में उपस्थित करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महिपाल सिंह ने सरकारों को मंच से खरी खरी सुनाई। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जो भी हमारे हितों पर कुठाराघात करेगा उसे हम अपने तरीके से जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि हमारी आवाज को दबाने वालों को हमें जवाब देना आता है।

स्वाभिमान सम्मेलन में सवर्ण और ओबीसी समाजों के प्रतिनिधि और विभिन्न सामाजिक संगठनों के नेताओं के अलावा धर्म गुरु और सामाजिक कार्यकर्ता भी मौजूद थे। भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की थी। कार्यक्रम स्थल को चारोँ तरफ से पुलिस छावनी बना दिया था।

Updated : 2018-09-05T20:52:03+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top