Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > सहारा हॉस्पिटल का पंजीयन निरस्त, डॉ. भल्ला की पत्नी मंजीत भल्ला पर मुकदमा दर्ज

सहारा हॉस्पिटल का पंजीयन निरस्त, डॉ. भल्ला की पत्नी मंजीत भल्ला पर मुकदमा दर्ज

सहारा हॉस्पिटल का पंजीयन निरस्त, डॉ. भल्ला की पत्नी मंजीत भल्ला पर मुकदमा दर्ज

ग्वालियर /वेब डेस्क। बसन्त विहार स्थित सहारा अस्पताल पर आज जिला प्रशासन द्वारा अवैध अतिक्रमण के खिलाफ जबरदस्त कार्यवाही की गई। पूरे सहारा अस्पताल से पहले मरीजों को निकाल कर उनको सुरक्षित अन्य अस्पतालों में भर्ती किया गया उसके बाद अवैध अतिक्रमण के खिलाफ निगम ने बुलडोजर चलाया। डॉ. ए. एस. भल्ला ने इस बीच अस्पताल बचाने के हरसंभव प्रयास किये और कोर्ट भी पहुंचे जहां स्टे भी खारिज हो गया।

अस्पताल का पंजीयन तत्काल प्रभाव से निरस्त


प्रशासन के निर्देश पर सहारा अस्पताल का पंजीयन निरस्त करने CMHO डॉ. मृदुल सक्सेना द्वारा देर शाम पंजीयन निरस्त के संबंध में आदेश जारी किया गया।

पत्नी पर मुकदमा दर्ज

इस बीच देर रात डॉ. भल्ला की पत्नी मंजीत भल्ला पर महाराजपुरा थाना क्षेत्र स्थित गिरगांव के पीछे ग्राम खेरिया मिर्धा में मंजीत भल्ला पत्नी डॉ. एएस भल्ला द्वारा कॉलोनी काटी जा रही थी। उक्त कॉलोनी की अनुमति मंजीत ने नगर निगम से नहीं ली। नगर निगम ने मंजीत भल्ला को नोटिस जारी किया था। जांच पड़ताल के बाद भवन अधिकारी के आवदेन पर मंजीत भल्ला के विरूद्ध 1956 की धारा 292 ग के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

डॉ. भल्ला ने प्रशासन को दी थी चुनौती

इसी बीच पिछले महीने डॉ. भल्ला ने शासकीय और निजी डॉक्टरों को एकत्रित कर प्रशासन के खिलाफ भड़काया था। उन्होंने डॉक्टरों की बैठक कर फैसला किया कि ग्वालियर जिला प्रशासन द्वारा शासकीय और अशासकीय अस्पतालों में बार-बार निरीक्षण के कारण परेशानी होती है। प्रशासन अस्पतालों में दखल अंदाजी कर रहा है। इसलिए अब कोई भी डॉक्टर प्रशासन के किसी भी अधिकारी को सर कहकर नहीं बुलाएंगे। डॉ. भल्ला ने मीडिया में बयान दिया कि पूरा प्रदेश अफसरशाही की चपेट में है और यह अफसरशाही अस्पतालों पर हुकुम चलाने का काम कर रही है। जिसे सहन नहीं किया जाएगा। डॉ. भल्ला की इस हरकत के बाद जिला प्रशासन ने नगर निगम के जरिए ग्वालियर के 41 निजी अस्पतालों में अतिक्रमण हटाने के नोटिस जारी किए थे। मैक्स अस्पताल, दिशा व समर्पण पैथोलॉजी का लाइसेंस भी 15 दिन के लिए सस्पेंड किया था। इसके अलावा डॉ. भल्ला के बसंत विहार स्थित सहारा अस्पताल को सील करने का नोटिस भी एसडीएम अनिल बनवारिया थमा कर आए थे। प्रशासन की इस कार्यवाही के बाद डॉ. भल्ला ने लगभग चुनौती ेदेते हुए प्रशासन से कहा था कि ग्वालियर के सभी निजी नर्सिंग होम हड़ताल कर देंगे।

अभी जारी रहेगी कार्यवाही

बताया जाता है कि डॉ. भल्ला के खिलाफ ग्वालियर में चल रही कार्यवाही की मॉनिटरिंग भोपाल में मुख्यमंत्री सचिवालय से की जा रही थी। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल इस पर निगाह रखे हुए थे। खबर है कि डॉ. भल्ला के खिलाफ और भी बड़ी कार्रवाई की जा सकती है।

Updated : 2019-12-07T00:28:00+05:30
Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top