Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > ग्वालियर के उभरते हुए गायक हैं ईशान

ग्वालियर के उभरते हुए गायक हैं ईशान

ग्वालियर के उभरते हुए गायक हैं ईशान

ग्वालियर/वेब डेस्क। अगर बच्चों को बचपन से ही प्रोत्साहन मिले तो वे उंचाई के रास्तों पर निकल पड़ते हैं। ग्वालियर के बाल गायक ईशान यादे की कहानी भी कुछ ऐसी ही है। वे अपनी मां नम्रता भटजी वाले की प्रेरणा से संगीत से कुछ ऐसे जुड़े कि अब संगीत के क्षेत्र में वे ग्वालियर का नाम नित्य नए मंचों पर रोशन कर रहे हैं। ईशान हाल ही में बॉलीवुड के कलाकार एवं निर्देशक पराग एवं प्रयास चौधरी के चर्चित शो द वॉर ऑफ टैलेंट के लिए चयनित होकर लगातार सुर्खियों में बने हुए हैं।


ईशान यादे की इस सफलता पर स्वदेश ने उनसे चर्चा की। संगीत प्रतिभा के धनी ईशान यादे ग्वालियर में लेले की बगिया में रहते हैं और शास्त्रीय संगीत को उन्होंने अपनी मां नम्रता भटजी वाले की प्रेरणा से अपनी साधना बना लिया है। वे कहते हैं कि मैं संगीत बचपन से पसंद करता हूं हालांकि परिवार की पूर्ण रुप से संगीत पृष्ठभूमि नहीं रही है मगर आसपास में संगीत का माहौल मुझे निरंतर मिला है। मैंने अपने शौक को अपना लक्ष्य बनाने के लिए ग्वालियर के वरिष्ठ शास्त्रीय संगीत गायक उमेश कंपू वाले एवं आरोह कंपू वाले जी से निरंतर गायन सीखा है और लगातार सीख रहा हूं। गुरुओं की कृपा से मुझे अपनी प्रस्तुति के लिए कई मौके मिले हैं। इन्हीं में शामिल रहा यूनिक नाट्य रियलिटी शो द वॉर ऑफ टैलेंट के लिए चयनित होना। इस शो के लिए देश भर के कलाकारों में से मुझ जैसे 200 गायकों को पहले चयनित किया गया एवं उसके बाद मैं अंतिम 40 में चयनित हो गया। इस अंतिम चयन के बाद हमें चुने हुए कलाकारों के साथ नए कलेवर के साथ प्रस्तुति का मौका मिल रहा है। यह मेरे लिए बहुत शानदार अनुभव रहा है। हम एक कहानी कहते हुए गायन की प्रस्तुति दे रहे हैं। इस शो के जरिए मुझे देश के नामचीन गायक इस्माइल दरबार, प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेत्री मुग्धा गोडसे और सलमान युसुफ खान के सामने अपनी प्रस्तुति का मौका मिला। ये शानदार अवसर था। हमें सेट पर अभिनेता राहुल देव भी मिले। गायन , डांस और अभिनय का यह साझा मंच हम सबके लिए बेहतरीन अनुभव था। मुझे अपने साथी प्रतिभागियों के साथ काम करके बहुत अच्छा लगा। पहले मुंबई और बाद में इंदौर में शूटिंग हुई जिसमें हमें वाकई में बहुत मजा आया। ईशान यादे कहते हैं कि संगीत की यह यात्रा शानदार है और मैं लगातार रियाज करते हुए संगीत के नए नए मंच पर पहुंचना चाहता हूं। ग्वालियर के उभरते बाल गायक ईशान यादे कहते हैं कि ये केवल उनकी शुरुआत है एवं वे शास्त्रीय संगीत की निरंतर साधना करते हुए अपना एक मुकाम बनाना चाहते हैं ताकि अपने परिवार , शहर , प्रदेश का देश भर में नाम रोशन कर सकें। उन्होंने कहा है कि वे द वॉर ऑफ टैलेंट जैसे बड़े मंच पर पहुंच सके यह गुरुओं का आशीर्वाद है और उनके सिखाए हुए संगीत ने ही इस शो में उनकी राह बनाई। ईशान कहते हैं कि यह सिलसिला आगे निरंतर बढ़ता रहे वे सिर्फ इसी पर अपना ध्यान केन्द्रित किए हुए हैं। शहर का नाम लेकर मैं आगे बढूं यह मेरे और मेरे परिवार की बहुत इच्छा है।

Updated : 2019-11-25T15:24:56+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top