Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > लॉकडाउन के बीच रामकृष्ण स्कूल ने शुरू किया शैक्षणिक सत्र

लॉकडाउन के बीच रामकृष्ण स्कूल ने शुरू किया शैक्षणिक सत्र

लॉकडाउन के बीच रामकृष्ण स्कूल ने शुरू किया शैक्षणिक सत्र
X

ग्वालियर। रामकृष्ण मिशन आश्रम द्वारा संचालित रामकृष्ण मिशन स्कूल सी.बी.एस.ई एवं एम.पी.बोर्ड ने कोरोना आपदा के दौरान जारी लॉकडाउन के बीच डिजिटलाइजेशन के माध्यम से परीक्षा परिणाम घोषित किया है। विद्यालय ने छात्रों शिक्षा एवं स्वास्थ्य की महत्वता को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया है।

लॉकडाउन के चलते विद्यालय द्वारा नए शैक्षणिक का शुभारम्भ ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से शुरू करेगा। विद्यालय ने ऑनलाइन समय-सारणी के अनुसार प्ले ग्रुप से 12वीं तक की कक्षाओं को संचालित कर रहा है। विद्यालय के प्राचार्य स्वामी सुप्रदीप्तानंद जी महाराज द्वारा शिक्षकगणों का ऑनलाइन मार्गदर्शन किया गया एवं शिक्षकगणों से कहा-" नवाचारों एवं उच्च तकनीकी को अपनाकर और उन तकनीकों का सही ढंग से उपयोग कर विद्यार्थियों का संपूर्ण विकास शिक्षक कर सकता है यही आज के परिप्रेक्ष्य में शिक्षक का परम कर्तव्य है।" ऑनलाइन कक्षाओं को संचालित करने में सहयोग रामकृष्ण मिशन स्कूल एमपीबीएसई की प्राचार्या फेहमीदा कुरेशी एवं कोऑर्डिनेटर अनूप शर्मा एवं अन्य शिक्षकों द्वारा किया जा रहा है।

शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वाली कंपनियां ईटेकऑनलाइनस्कूल, टाटाक्लासएज, स्टेमरोबो, एडोब स्पार्क, कोएक्सेल (जर्मनी), बटरफ्लाई एजुफील्ड, एलेट्स, फ्री और ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर, टीसीएसआयन, यारुकी (जापान) ने ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करने में पूर्ण सहयोग दिया। विभिन्न क्रियात्मक गतिविधियां जैसे योगा, चित्रकला एवं पेंटिंग, नृत्य, तथा निरर्थक वस्तुओं से उपयोगी वस्तुएं बनाना आदि की कला बच्चों को ऑनलाइन सिखाई गई। विद्यार्थियों, शिक्षकों एवं अभिभावकों के ज्ञानवर्धन हेतु विभिन्न विषयों जैसे डिजिटल पेरेंटिंग, अंको का योग तथा घटाव, माइक्रोऑर्गेज्म, भोजन के घटक तथा पोषण , कोविड-19 से बचाव हेतु संपूर्ण जानकारी वेबीनार तथा लाइव सेशन द्वारा दी गई।

आरकेएम मुंबई से मीनल परानजपे तथा रिटायर्ड एम.डी केमिकल इंजीनियर संजय करकरे जी के निर्देशन में सचिन तेंदुलकर मार्ग स्थित शारदा बालग्राम के बच्चों ने गणित,अंग्रेजी, विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान आदि विषयों की बारीकियों को सीखा। "ओपन बुक टेस्ट पेपर" के माध्यम से विद्यार्थियों की प्रतिभा का मूल्यांकन शिक्षकों द्वारा ऑनलाइन किया गया तथा कोरोना महामारी के दौरान ग्वालियर शहर से बाहर फंसे हुए विद्यार्थियों ने भी ऑनलाइन कक्षाओ एवं ओपन बुक टेस्ट का भरपूर लाभ उठाया। विद्यालय की छात्रा आरुषि तिवारी ने ऑनलाइन क्लासेस के अपने अद्भुत अनुभवों को आकाशवाणी के प्रसार भारती कार्यक्रम में साझा किया।

Updated : 2020-05-03T19:48:47+05:30

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top